IPL 2019: विश्व कप से बाहर किये गये ये 11 खिलाड़ी इंग्लैंड और भारत जैसी मजबूत टीम को भी दे सकती हैं मात | Sportzwiki

Trending News

Blog Post

आईपीएल 2019

IPL 2019: विश्व कप से बाहर किये गये ये 11 खिलाड़ी इंग्लैंड और भारत जैसी मजबूत टीम को भी दे सकती हैं मात 

IPL 2019: विश्व कप से बाहर किये गये ये 11 खिलाड़ी इंग्लैंड और भारत जैसी मजबूत टीम को भी दे सकती हैं मात

आईपीएल का 12वां संस्करण समाप्त हो चुका है। चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर इस सीजन का खिताब मुंबई इंडियंस ने जीता। प्रतिवर्ष की भांति इस साल भी  कई खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया और अपनी टीम को  जीत भी दिलाई। कुछ खिलाड़ी भाग्यशाली रहे कि उनकी टीम प्लेऑफ तक पहुंची लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे जिनके ऊपर पूरी टीम निर्भर थी। टीम का प्रदर्शन अच्छा न होने के कारण वे प्लेऑफ से बाहर हो गए। इस सीजन कई ऐसे खिलाड़ी भी थे, जिन्होंने इतना शानदार प्रदर्शन किया कि उन्हें अपने-अपने देशों की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होना चाहिए था।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं आईपीएल की सर्वश्रेष्ठ एकादश के बारे में जिनकी वर्ल्ड कप 2019 में जरूरत महसूस होगी।

#11. मनीष पांडे:

सनराइजर्स हैदराबाद टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले भारतीय खिलाड़ी मनीष पांडे को इस साल वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया है। आईपीएल के इस सीजन के शुरुआती कुछ मैचों में उन्हें पांचवें स्थान और बल्लेबाजी कराई गई थी जिस कारण उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। लेकिन 43वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ जब उन्हें तीसरे स्थान पर बल्लेबाजी कराया गया तो उसी मैच में उन्होंने 49 गेंदों पर 83 रनों की पारी खेल दी।इसके बाद से वे अच्छे फॉर्म में वापस लौट गए। उन्हें वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होना चाहिए था, क्योंकि पांडे का विदेशों में प्रदर्शन अच्छा रहा है।

#10. एबी डीविलियर्स:

मिस्टर 360 के नाम से मशहूर पूर्व दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने पिछले साल ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। एबी डिविलियर्स ने आईपीएल में इस सीजन भी अपने टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है।

उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हुए 13 मैचों में 44.20 की औसत से 442 रन बनाए हैं। एबी डिविलियर्स का वर्ल्ड कप में भाग न लेना सिर्फ दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट फैंस के लिए ही नहीं बल्कि विश्व भर के क्रिकेट फैंस के लिए दुख की बात है।

#9. किरोन पोलार्ड:

कैरीबियन ऑल राउंडर किरोन पोलार्ड अपनी हार्ड हिटिंग बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं साथ ही वे स्पिन गेंदबाजी भी करते हैं। किरोन पोलार्ड की क्षमता किसी भी वक्त मैच की स्थिति को पलटने में काम आती है। वे तेज गति से रन बनाकर बड़े लक्ष्य को स्थापित करने और बड़े से बड़ा रन चेंज करने में सक्षम हैं।

इस साल उन्हें वेस्टइंडीज की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया है, जबकि आंद्रे रसेल की वापसी हो गई है। वर्ल्ड कप में किरोन पोलार्ड का भाग में लेना फैंस के लिए दु:ख की बात है।

#8. श्रेयस अय्यर:

आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स टीम का नेतृत्व करने वाले श्रेयस अय्यर ने इस सीजन अपने टीम के लिए कई जिताऊ पारियां खेली हैं। उन्होंने इस सीज  16 मैचों में 30.87 की औसत से 463 रन बनाए हैं।

श्रेयस अय्यर के पास शानदार क्लास के साथ तेज बल्लेबाजी करने की क्षमता है वे भारतीय टीम के लिए चौथे स्थान पर बल्लेबाजी करने के बेहतर विकल्प हो सकते थे।

#7. ऋषभ पंत:

शानदार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत का वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चयन नहीं हुआ है जो कि चौंकाने वाली बात है। समय दर समय कई क्रिकेट दिग्गजों द्वारा इनके चयन ना होने को लेकर सवाल उठता रहता है। ऋषभ पंत ने इस सीजन अपने दम पर दिल्ली कैपिटल्स को कई मैचों में जीत दिलाई है।

ऋषभ पंत ने इस सीजन 16 मैचों में 37.54 की औसत से 488 रन बनाए हैं, जबकि पिछले सीजन भी उन्होंने 600 से अधिक रन बनाए थे ऐसे में ऋषभ पंत का भारतीय टीम में चयन न होना सोचने वाली बात है।

#6. सैम करन:

अंग्रेजी ऑल राउंडर सैम करन को इंग्लैंड की वर्ल्ड कप टीम में शामिल नहीं किया गया है। उन्होंने पिछले साल भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था सैम करन ने इसी साल आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हैट्रिक विकेट भी चटकाए इसके अलावा उन्होंने इस सीजन एक और शतक भी जड़ा सैम करन इंग्लैंड के लिए लोअर मिडल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने के लिए उपयुक्त विकल्प हो सकते थे।

#5. शेन वॉटसन:

शेन वॉटसन इस सीजन इतना प्रभावशाली प्रदर्शन तो नहीं किया है लेकिन उन्होंने कुछ महत्वपूर्ण मैचों में अच्छी पारियां खेली है। जबकि इसके अलावा उन्होंने पिछले साल शानदार प्रदर्शन किया था शेन वॉटसन ने मुंबई के खिलाफ फाइनल मुकाबले में भी 80 रनों की शानदार पारी खेली थी, लेकिन अंतिम ओवर में रन आउट हो जाने के कारण चेन्नई सुपर किंग्स का मुकाबला हार गई। शेन वॉटसन को ऑस्ट्रेलिया के वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होना चाहिए था जिससे वर्ल्ड कप में रोमांच बढ़ता।

# 4. दीपक चाहर:

दीपक चाहर ने इस सीजन आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलते हुए बहुत प्रभावित किया है। उन्होंने 17 मैचों में 21.3 1 की औसत से 21 विकेट चटकाए हैं। दीपक चाहर को भारत की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होना चाहिए था। वे भारत के लिए तीसरे तेज गेंदबाज का विकल्प हो सकते थे।

#3. श्रेयस गोपाल:

राजस्थान रॉयल्स का प्रतिनिधित्व करने वाले श्रेयस गोपाल इस सीजन जबरदस्त प्रदर्शन किया है। उन्होंने इस सीजन दो बार विराट कोहली और एबी डिविलियर्स जैसे दिग्गज बल्लेबाज को आउट किया है।

इसके अलावा उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ हैट्रिक विकेट भी लिया था। श्रेयस गोपाल ने इन सीजन 14 मैचों में 20 विकेट चटकाए थे। श्रेयस गोपाल वर्ल्ड कप में भारतीय टीम में जगह पाने के प्रबल दावेदार थे।

#2. जोफ्रा आर्चर:

वेस्टइंडीज मूल के अंग्रेजी की गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने इस सीजन डेथ ओवरों में जबरदस्त गेंदबाजी का प्रदर्शन किया है। हालांकि उन्हें इंग्लैंड की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया है, लेकिन आयरलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में मौका दिया गया है।जोफ्रा आर्चर ने इस आईपीएल सीजन 11 मैचों में 11 विकेट चटकाए हैं। उन्हें वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होना चाहिए था।

#1. खलील अहमद:

भारतीय तेज गेंदबाज खलील अहमद ने इस सीजन सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलते हुए 9 मैचों में 15.11 की औसत से 19 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने इस सीजन सभी मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है और किफायती भी साबित होते रहे हैं। वे ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरे पर भी भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं लेकिन उन्हें वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया है। अगर खलील अहमद भारत की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होते तो भारत के लिए बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे।

Related posts