आईपीएल में जगह न मिलने पर अब यह खिलाड़ी बना जम्मू कश्मीर टीम का कोच

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

IPL में अनसोल्ड रहने वाले इरफ़ान पठान के लिए आई एक बड़ी खबर, आईपीएल शुरू होने से पहले इस टीम ने पठान को बनाया अपना कोच और मेंटर 

IPL में अनसोल्ड रहने वाले इरफ़ान पठान के लिए आई एक बड़ी खबर, आईपीएल शुरू होने से पहले इस टीम ने पठान को बनाया अपना कोच और मेंटर

इंडियन प्रीमियर लीग 2018 में इरफ़ान पठान ने भले ही जगह नहीं बना पाए लेकिन अभी वो खेलते हुए तो नहीं बल्कि कोचिंग करते हुए जरूर देखे जाने वाले है। ख़बरों की मानें तो इरफ़ान पठान को जम्मू कश्मीर क्रिकेट संघ ने सीजन 2018-19 के लिए कोच-कम-मेंटर बनाया है इस प्रकार वो एक बार फिर से क्रिकेट ग्राउंड में नजर आयेंगे।

गौरतलब हो कि इरफ़ान पठान पिछले कुछ समय से क्रिकेट से दूर है क्योंकि उन्हें न तो पिछले साल खेली गयी रणजी ट्राफी में जगह मिल पायी और न ही बड़ोदा की वनडे और टी20 में जगह मिल पायी थी लेकिन अब इन्हें जम्मू कश्मीर क्रिकेट संघ में कोचिंग करते हुए देखने को मिलने वाला है।

IPL में अनसोल्ड रहने वाले इरफ़ान पठान के लिए आई एक बड़ी खबर, आईपीएल शुरू होने से पहले इस टीम ने पठान को बनाया अपना कोच और मेंटर 1

इसी बीच जम्मू कश्मीर क्रिकेट संघ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आशिक बुखारी का कहना है कि, “इरफ़ान पठान हमारी टीम में एक वर्ष के लिए कोच कम-मेंटर के रूप में रहने वाले है।

इरफ़ान पठान जिन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए काफी क्रिकेट खेला था लेकिन बीच में खराब दौर आया और इनका क्रिकेट कैरियर लगभग ख़त्म हो गया। पठान जिन्होंने भारतीय टीम के लिए 2003 से 2012 तक कुल 29 टेस्ट मैच खेले थे जबकि 120 वनडे और 24 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में भी जगह मिली है लेकिन अभी इन्हें कहीं पर भी मौका नहीं मिल रहा है। इन्होंने बड़ोदा क्रिकेट टीम की कप्तानी भी की है।

IPL में अनसोल्ड रहने वाले इरफ़ान पठान के लिए आई एक बड़ी खबर, आईपीएल शुरू होने से पहले इस टीम ने पठान को बनाया अपना कोच और मेंटर 2

बता दें कि इरफ़ान पठान ने यहाँ क्रिकेट ग्राउंड में जम्मू कश्मीर के युवा खिलाड़ियों को काफी कुछ सलाह दी है जिससे उनका भविष्य अच्छा बन सके।

आपको याद हो कि बाएं हाथ से गेंदबाजी करने वाले इरफ़ान पठान जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए हैट्रिक ली थी और उन दिनों ये बहुत लोकप्रिय खिलाड़ियों में से एक थे लेकिन भाग्य ने इनका साथ नहीं दिया और अब किसी भी टीम में मौका नहीं मिल पा रहा है। इन्होंने साल 2008 में आखिरी टेस्ट और 2012 में अंतिम वनडे मैच खेला था।

Related posts

Leave a Reply