इरफान पठान ने सन्यास के बाद कहा धोनी के लिए कही बड़ी बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

इरफान पठान ने संन्यास के बाद महेंद्र सिंह धोनी पर लगाया ये आरोप, कहा नहीं जताया भरोसा 

इरफान पठान ने संन्यास के बाद महेंद्र सिंह धोनी पर लगाया ये आरोप, कहा नहीं जताया भरोसा

35 साल के ऑलराउंडर इरफान पठान ने शनिवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी. टीम इंडिया के प्रमुख स्विंग गेंदबाजों में शुमार रहे इरफान पठान विदेशों में फ्रेंचाइजी आधारित लीग के लिए उपलब्ध रह सकते हैं. इरफान पठान अक्टूबर 2012 में आखिरी बार टीम इंडिया की जर्सी में उतरे थे, जब उन्होंने कोलंबो में टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच खेला था.

इरफान पठान ने कहा धोनी ने मुझ पर नहीं जताया भरोसा

इरफ़ान पठान

इरफान ने अपने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर भी बड़ी बात कही है. इरफान ने कहा कि मैंने भारतीय टीम के लिए अपना आखिरी मैच 2012 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था तब मैं 27 साल का था. इस उम्र में बहुत सारे क्रिकेटरों ने भारत के लिए डेब्यू किया है, लेकिन 301 इंटरनेशनल विकेट लेने के बाद भी महेंद्र सिंह धोनी ने मुझपर भरोसा नहीं जताया.

इरफान पठान ने रिटायरमेंट का ऐलान करते हुए कहा था

इरफान पठान ने संन्यास के बाद महेंद्र सिंह धोनी पर लगाया ये आरोप, कहा नहीं जताया भरोसा 1

‘आज मैं सभी तरह की क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं. यह मेरे लिए भावुक पल है, लेकिन यह ऐसा पल है जो हर खिलाड़ी की जिंदगी में आता है. छोटी जगह से हूं और मुझे सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली जैसे महान खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिला, जिसकी हर किसी को तमन्ना होती है.’

क्रिकेट में अपने यादगार क्षण की बात करते हुए इरफान ने‘स्टार स्पोर्ट्स’ के कार्यक्रम में कहा

तेज गेंदबाज

भारत की तरफ से खेलना शीर्ष पर रहेगा. उन्होंने कहा, ‘अगर मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो कई क्षण हैं. निश्चित तौर पर मैथ्यू हेडन के रूप में अपना पहला विकेट हासिल करना उनमें शामिल है. लेकिन जब मुझे पदार्पण करने पर कैप मिली तो वह खास क्षण था. यह मेरे दिल के करीब है क्योंकि आप इसी कैप के लिये पूरी मेहनत करते हो.’

इरफान ने टेस्ट हैट्रिक के बारे में कहा, ‘यह यादगार क्षण था, लेकिन निजी तौर पर मैं इस हैट्रिक की बात नहीं करता क्योंकि हम मैच हार गए थे.’

2007 टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल के मैन ऑफ द मैच रहे

इरफान पठान ने संन्यास के बाद महेंद्र सिंह धोनी पर लगाया ये आरोप, कहा नहीं जताया भरोसा 2

इरफान पठान 2007 की टी-20 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम का हिस्सा थे और पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे थे. 2006 में पाकिस्तान के दौरे पर उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन तब आया, जब वह हरभजन सिंह के बाद टेस्ट हैट्रिक लेने वाले दूसरे भारतीय बने. उन्होंने कराची टेस्ट में सलमान बट, यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ को लगातार गेंदों पर आउट कर अपनी हैट्रिक पूरी की थी.

इरफान पठान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ की उछाल वाली पिच पर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. इसके बाद अपने करियर के दौरान वह चोटों से परेशान रहे और उनका फॉर्म भी गिरता गया. गेंद को स्विंग करने की उनकी क्षमता भी बिगड़ गई.

Related posts