कोरोना वायरस के बीच इरफान पठान हुए ट्रोल

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पटाखे जलाने वालों पर इरफान पठान ने किया ट्वीट, तो ट्रोलर्स ने गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हुए मुसलमान होने पर उठाई अंगुली 

पटाखे जलाने वालों पर इरफान पठान ने किया ट्वीट, तो ट्रोलर्स ने गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हुए मुसलमान होने पर उठाई अंगुली

चीन से शुरु हुए कोरोना वायरस ने दुनियाभर में अपना खौफ फैला रखा है. भारत में भी कोरोना की स्थिति बेहद खराब होती जा रही है. 21 दिन के लॉकडाउन के बावजूद भारत में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 4 हजार के पार पहुंच गई है. इस चिंता भरे माहौल को हल्का करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने 5 अप्रैल को 9 बजे 9 मिनट के लिए दीप जलाने के लिए कहा था. लेकिन भारतवासियों ने जमकर पटाखे जलाए और पर्यावरण को प्रदूषित कर दिया.

इरफान पठान ने किया था ट्वीट

दुनियाभर में कोरोना वायरस के चलते डिप्रेशन का माहौल है. भारत में भी घर में कैद लोग काफी परेशान हैं. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अप्रैल को 9 बजे 9 मिनट के लिए जनता से दीप प्रज्वलित करने के लिए कहा था.

इस दौरान पूरा देश जगमगाता नजर आया. मगर इन सबके बीच कुछ लोगों ने पटाखे-फुलझड़ी जलाकर पर्यावरण को प्रदूषित किया. इसपर इरफान पठान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट करते हुए लिखा- सब कुछ बहुत अच्छा लग रहा था जब तक लोगों ने पटाखे जलाने नहीं शुरु किए थे.

इरफान पठान ने किया ट्वीट

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान ने जैसे ही सोशल मीडिया पर पटाखे जलाने वालों पर अंगुली उठाई. वैसे ही लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया. जी हां, यूजर्स ने गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हुए इरफान को ट्रोल किया.

इरफान ने खुद उनका यूजर्स के कमेंट्स का स्क्रीनशॉर्ट लेकर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया. जिसमें आप देख सकते हैं कि लोग पठान के मुसलमान होने पर टिप्पणी कर रहे हैं. इसपर इरफान ने कैप्शन में लिखा- हमे पटाखों से भरे ट्रक की जरूरत है, क्या आप लोग मदद करेंगे?

भारत में कोरोना वायरस की स्थिति गंभीर

कोरोना वायरस

चीन, अमेरिका, इटली, ब्रिटेन जैसे विकसित देशों में कोरोना वायरस, अब तक हजारों की संख्या में जान ली है. मगर अब भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. संक्रमित लोगों के आंकड़े इतनी तेजी से फैल रहे हैं, जिसे देखकर हर कोई परेशान है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों का लॉकडाउन किया हुआ है. इसके बावजूद लोग मान नहीं रहे और घरों से बाहर निकल रहे हैं, ये कोरोना के फैलने का एक बड़ा कारण है. भारत में 4000 के करीब लोग इससे संक्रमित हैं और 195 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

Related posts