रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर

इंडियन प्रीमियर लीग के इस सीजन में विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम आरसीबी पहली बार खिताब जीतने का इंतजार कर रही है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ने आईपीएल के इतिहास में एक भी खिताब अपने नाम नहीं किया है। वो इस बार खिताब को जीतने की तरफ देख रहे हैं। जिसके लिए उनकी टीम को दावेदार भी माना जा रहा है।

आरसीबी के लिए इस बार भी गेंदबाजी बन रही है चिंता

आरसीबी की बात करें तो अब तक उन्होंने 3 मैच खेले हैं जिसमें 2 मैच जीतने में सफलता हासिल की तो उन्हें अपने दूसरे मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के हाथों काफी शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था।

मुंबई इंडियंस

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने अपने पहले मैच में सनराईजर्स हैदराबाद को आसानी से हराया था। तो तीसरे मैच में सोमवार को मुंबई इंडियंस पर सुपर ओवर में जीत हासिल की। लेकिन इन मैचों में उनके लिए गेंदबाजी थोड़ा सिर दर्द साबित हो रही है।

इरफान पठान ने बताया, आरसीबी को किस चीज से बचना होगा

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ अपने डेथ ओवर्स की गेंदबाजी में युवा ऑलराउंडर शिवम दुबे को अजमाया था। शिवम दुबे ने वैसे पहले दो मैचों में बीच के ओवर्स में बढ़िया गेंदबाजी की। लेकिन वो डेथ ओवर्स का दबाव झेल नहीं सके और उनकी जमकर धुनाई हो गई।

आईपीएल 2020- इरफान पठान की आरसीबी को बड़ी सलाह, इस गेंदबाज से ना करवाए डेथ ओवर्स में गेंदबाजी 1

इस मैच के बाद भारत के पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर इरफान पठान ने साफ शब्दों में कहा कि है आरसीबी को डेथ ओवर्स में शिवम दुबे को गेंदबाजी नहीं करानी चाहिए। इरफान पठान ने कहा कि

शिवम दुबे ने ना करवाए डेथ में गेंदबाजी

देखो, मुझे लगता है कि क्रिस मौरिस के आते ही (आरसीबी- गेंदबाजी में) बेहतर हो जाएंगे। मैं अब देख रहा हूं कि क्रिस मौरिस आ रहे हैं और स्टेन बाहर जा रहे हैं, इसके बाद वो सेटल हो जाएंगे। आरसीबी से मैं जो नहीं चाहता हूं वो शिवम दुबे का डेथ ओवरों में गेंदबाजी करना है। उनके पास एक बेहर टीम है। उनके पास तुलनात्मक रूप से बेहतर बल्लेबाज हैं। वे सिर्फ एबी डीविलियर्स या विराट कोहली पर निर्भर नहीं हैं।”

विराट कोहली

इसके बाद पठान ने कहा कि

इस साल उनके पास आरोन फिंच हैं, पडिकल ने बहुत अच्छी शुरुआत की। इसलिए बहुत सारे सकारात्मक पहलू हैं। लेकिन पिछले मैच(किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ) उन्होंने आखिरी ओवर शिवम दुबे को दिया। नवदीप सैनी को डेथ में कम से कम 2 ओवर गेंदबाजी करनी चाहिए, क्योंकि वो यॉर्कर से बल्लेबाजों को परेशान कर सकते हैं। सिर्फ वो हैं जो बल्लेबाजों डेथ में बाउंसर कर सकते हैं।”