रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी घरेलू परिस्थिति में कुंबले और भज्जी से काफी आगे

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी घरेलू परिस्थिति में कुंबले और भज्जी से काफी आगे 

रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी घरेलू परिस्थिति में कुंबले और भज्जी से काफी आगे

भारत ने टेस्ट सीरीज के पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को करारी शिकस्त दी। भारतीय टीम ने 502/7 और 323/4 का स्कोर बनाया वहीं दक्षिण अफ्रीका की टीम 431 और 191 रनों पर आउट हो गयी। इस तरफ टीम इंडिया ने मैच को 203 रनों के बड़े अंतर से अपने नाम किया। इस जीत में बल्लेबाजों के साथ ही गेंदबाजों ने भी अहम भूमिका निभाई।

जडेजा- अश्विन की अहम भूमिका

रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी घरेलू परिस्थिति में कुंबले और भज्जी से काफी आगे 1

भारतीय टीम की इस जीत में रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन ने अहम भूमिका निभाई। अश्विन ने पहली पारी में 7 विकेट समेत मैच में कुल 8 विकेट लिये। दूसरी में मोहम्मद शमी ने 5 बल्लेबाजों को आउट किया था।

जडेजा ने दूसरी पारी में एक ही ओवर में ही तीन विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीका को मैच से दूर कर दिया था। इसी मैच में जडेजा ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 200 विकेट पूरे किये थे और वह सबसे तेज 200 टेस्ट विकेट लेने वाले बाएं हाथ के गेंदबाज भी बन गये हैं।

भारत में बेहतरीन प्रदर्शन

रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी घरेलू परिस्थिति में कुंबले और भज्जी से काफी आगे 2

रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी ने भारत में बेहतरीन गेंदबाजी की है। पिछले कुछ सालों में टीम को घर में मिली टेस्ट जीतों में इनकी भूमिका अहम रही है। इन्होने घर में एक साथ 29 मैच खेले हैं और इसमें टीम को 22 मैचों में जीत मिली है।

29 मैचों में जडेजा और अश्विन की जोड़ी ने 21.29 की औसत और 51.91 की स्ट्राइक रेट से 329 विकेट चटकाए हैं। हालाँकि, सेना देशों में उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा है और इसी वजह से इनपर उँगलियाँ भी उठती हैं।

कुंबले- भज्जी काफी पीछे

रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी घरेलू परिस्थिति में कुंबले और भज्जी से काफी आगे 3

अनिल कुंबले और हरभजन सिंह ने घर में एक साथ 34 मैच खेले हैं और टीम को उसमें सिर्फ 14 जीत मिली है। इन 34 मैचों में दोनों गेंदबाजों ने मिलकर भारतीय टीम को 356 सफलताएं दिलाई थी। इन दोनों की जोड़ी एक विकेट के लिए 27.23 रन देती थी जबकि करीब 63 गेंदों पर एक विकेट लेती थी।

घर में प्रदर्शन के मामले में अनिल कुंबले और हरभजन सिंह की जोड़ी रविन्द्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी से पीछे हैं। भारतीय टीम को घर में मिलने वाली जीत और विराट कोहली को सफल कप्तान बनाने में इनकी भूमिका अहम है।

Related posts