रविंद्र जडेजा

जिस तरह चेन्नई सुपरकिंग्स का नाम सामने आते ही कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का नाम सामने आ जाता है उसी प्रकार इस टीम की पहचान अब रवींद्र जडेजा के नाम से भी की जाने लगी है. जडेजा मतलब गेंद, बल्ले के साथ-साथ फील्डिंग में करिश्मा दिखाने में माहिर हैं. फील्डिंग तो जैसे उनके बाएं हाथ का खेल है. वो अपनी फील्डिंग द्वारा ही सामने वाली टीम के स्कोर में 5 से 6 रन कम कर देते हैं.

जडेजा मतलब जीत की गारंटीः

आईपीएल और जडेजा के प्रशंसकों की नजरों में जड़ेजा और आईपीएल एक दूसरे के पूरक हैं. लेकिन बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि वो कप्तान एमएस धोनी के सिपाहियों में हमेशा से नहीं गिने जाते हैं, क्योंकि जड़ेजा ने आईपीएल की शुरुआत से अलग-अलग टीमों के हिस्सा रहे हैं. वो चेन्नई के अलावा और भी तीन टीमों के साथ अपने गेंद, बल्ले के जादुई करिश्मे को दिखा चुके हैं.

रवींद्र जड़ेजा का आईपीएल में सफर साल 2008 में शुरु हुआ था इस दौरान वो राजस्थान रायल्स टीम का हिस्सा थे. इस टीम के साथ उनका सफर साल 2009 तक चला. 2010 में जडेजा आईपीएल नहीं खेले. इसके बाद जड़ेजा कोच्चि टस्कर्स केरला के हिस्सा बनें.

इन टीमों के साथ रहे जड़ेजा और उनका इस दौरान प्रर्दशनः

इसके बाद साल 2012 में वो धोनी की अगुवाई वाली टीम चेन्नई का हिस्सा बनें. वो इस टीम में 2012 से लेकर 2015 तक हिस्सा बने रहें. इसके बाद 2016 और 2017 में चेन्नई के ऊपर बैन लगने के बाद वो गुजरात लायंस का हिस्सा बनें.

IPL 2021: धोनी के हमेशा से विश्वासपात्र नहीं रहे हैं जडेजा, इन 3 टीमों के लिया किया है कमाल का प्रदर्शन 1

2018 में एक बार फिर से जब चेन्नई की आईपीएल में वापसी हुई तो वो फिर से चेन्नई में शामिल हुए. तब से लेकर अभी तक वो अपने प्रर्दशन के बदौलत टीम को कई बार जीत दर्ज करा चुके हैं.

इन  टीमों के साथ खेल चुके हैं आईपीएलः

राजस्थान  रायल्स के साथ टीम का हिस्सा रहे जड़ेजा ने 2008 में 135 रन बनाएं. 2009 में उन्होंने 295 रनों के साथ 6 विकेट भी हासिल किए. इसके बाद उनका सफर कोच्चि टस्कर्स केरला के साथ रहा इस दौरान 283 रन और 8 विकेट हासिल किए.

इसके बाद साल 2012 से लेकर 2015 तक चेन्नई सुपरकिंग्स टीम का हिस्सा रहें इस दौरान 2012 में 191 रन, 12 विकेट, 2013 में 201 रन और 13 विकेट, 2014 में 146 रन और 19 विकेट, 2015 में 132 रन और 11 विकेट हासिल किए. इसके बाद गुजरात लायंस का हिस्सा बने.

IPL 2021: धोनी के हमेशा से विश्वासपात्र नहीं रहे हैं जडेजा, इन 3 टीमों के लिया किया है कमाल का प्रदर्शन 2

2016 में 191 रनों के साथ 8 विकेट, साल 2017 में 158 रन, 5 विकेट हासिल किए. इसके बाद वो एक बार फिर से चेन्नई सुपरकिंग्स का हिस्सा बनें. 2018 में 89 रन, 11 विकेट, 2019 में 106 रन, 15 विकेट, 2020 में 232 रन, 6 विकेट हासिल किए.