6000 रन और 300 विकेट लेने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को आज तक नहीं मिला आईपीएल खेलने का मौका 1

भारत से खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है, इसके लिए हर खिलाड़ी कड़ी मेहनत करता है. क्रिकेट खेलने वाले हर खिलाड़ी को लगता है कि वो एक दिन भारत के लिए खेलेगा और अपने देश का प्रतिनिधित्व करेगा, लेकिन भारत के लिए तो सिर्फ 11 खिलाड़ी ही एक समय पर खेल सकते हैं. ऐसे में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी एक मैच भी नहीं खेल पाते हैं और मजबूरन उन्हें संन्यास का ऐलान करना पड़ जाता है, ऐसा ही सचिन तेंदुलकर के समकक्ष माने जाने वाले बोरिया मजूमदार के साथ भी हुआ था.

बोरिया मजूमदार के बाद एक खिलाड़ी और भी ऐसा है, जो पिछले 14 सालों से खुद को साबित करता आ रहा है, लेकिन आज तक उसे भारत के लिए एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. इस खिलाड़ी ने अब तक 6000 से भी ज्यादा रन बनाये हैं, तो 300 विकेट भी बतौर आलराउंडर अपने नाम कर चूका है.

जलज सक्सेना हैं वो खिलाड़ी

6000 रन और 300 विकेट लेने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को आज तक नहीं मिला आईपीएल खेलने का मौका 2

घरेलू स्तर पर अपने आप को साबित कर चुके जलज सक्सेना को 2017-18 में बीसीसीआई का बेस्ट आलराउंडर चुना जा चूका है. भारत का यह स्टार खिलाड़ी हमेशा अपने आप को साबित करता आया है, लेकिन आज तक इस खिलाड़ी को टीम इंडिया में जगह नहीं मिली.

6000 रन और 300 विकेट लेने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को आज तक नहीं मिला आईपीएल खेलने का मौका 3

एक तरफ जहाँ जलज सक्सेना को लगातार नजरअंदाज किया गया, वहीं दूसरी तरह हार्दिक पंड्या, शिवम दुबे और विजय शंकर जैसे युवा खिलाड़ियों को बतौर आलराउंडर आजमाया गया.

आईपीएल में भी नहीं मिला डेब्यू का मौका

6000 रन और 300 विकेट लेने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को आज तक नहीं मिला आईपीएल खेलने का मौका 4

जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि कुछ भी हो आंकड़े कभी भी झूठ नहीं बोलते हैं. लेकिन इन शानदार आंकड़ो के बाद भी जलज सक्सेना को टीम इंडिया तो क्या आज तक आईपीएल में भी डेब्यू करने का मौका नहीं मिला. हालाँकि आपकों बता दें कि जलज पहले ऐसे भारतीय और दुनिया के छठे खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो बार फर्स्ट क्लास मैच में शतक के बाद 8 विकेट लेने का कारनामा किया है. फिर भी इस भारतीय खिलाड़ी पर आज तक किसी टीम ने दिलचस्पी नहीं दिखाई.

दिल्ली कैपिटल्स ने इस खिलाड़ी को पिछले साल जरुर 20 लाख की बेस प्राइस में अपने टीम में शामिल किया, लेकिन एक भी मैच खेलने का मौका नहीं दिया.

मै हमेशा से अपने करियर कों एक स्पोर्ट्स लेखक के रूप में लोगों के सामने पेश करना...