Bumrah

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहुंची भारतीय टीम की शुरूआत बहुत ही खराब रही है. पहले और दूसरे वनडे में मिली करारी शिकस्त ने भारतीय बॉलरों के ऊपर कई तरह के सवाल कर खड़े कर दिए हैं. इस सिलसिले में जसप्रीत बुमराह भी इस बार टीम इंडिया के लिए अनलकी ही साबित हो रहे हैं.

बुमराह ने हासिल की अनवांटेड उपलब्धि

Bumrah
अपनी आक्रमक गेंदबाजी के चलते हमेशा से ही सुर्खियों में रहने वाले तेज बॉलर जसप्रीत बुमराह खुद के बनाए हुए रिकॉर्ड को भी नहीं बचा पा रहे हैं. इसके पीछे की वजह उनकी गलत गेंदबाजी भी कही जा सकती है. नई गेंद के साथ भी बुमराह कुछ खास कमाल नहीं दिखा पा रहे है. विश्व के नंबर 2 में शामिल भारत के तेज गेंदबाज बुमराह ने साल 2020 में एक और अनवांटेड उपलब्धि अपने नाम कर ली है. जो किसी भी तरीके से भारत के शानदार खिलाड़ियों के लिए सही नहीं है.

पावरप्ले में बिना विकेट झटके साल का किया अंत

Bumrah

दरअसल जसप्रीत बुमराह ने वनडे सीरीज में पावरप्ले के दौरान बिना एक भी विकेट झटके इस साल का अंत कर दिया है. साल 2020 की बात करें तो अब तक जसप्रीत बुमराह 9 वनडे मैच खेले हैं. जिसमें वो सिर्फ तीन विकेट ही चटकाने में कामयाब हो पाए हैं. जबकि 6 से कम की औसत से उन्होंने 458 रन दिए हैं.

बता दें कि जसप्रीत बुमराह ने पावरप्ले में कुल 34 ओवर डाले हैं. उनके लगातार खराब प्रदर्शन का असर भारतीय टीम पर भी साफ देखा जा सकता है. हैरानी वाली बात तो ये है कि ऐसा पहली बार हुआ है जब विराट कोहली की कप्तानी में टीम को 5 वनडे मैच में करारी शिकस्त मिली है.

अनलकी साबित हुए बुमराह

Bumrah

कैनबरा में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हो रहे तीसरे वनडे मैच की बात करें तो, इसमें विराट ने बुमराह को पावरप्ले में 5 ओवर डालने के लिए दिया था. लेकिन शुरूआती के 10 ओवर में उन्होंने बिना विकेट लिए 19 रन लुटा दिए. हालांकि बुमराह की ये बदकिस्मती भी कही जा सकती है, क्योंकि शिखर धवन के हाथ से कैच स्लिप होने की वजह से उन्हें एक विकेट मिलते-मिलते रह गया, और आरोन फिंच बच गए.

बुमराह के अलावा देखा जाए तो ये साल विराट कोहली और शिखर धवन के लिए भी कुछ खास अच्छा नहीं रहा. कोहली का ये साल बिना शतक जड़े खत्म हो गया. ऐसा पहली बार साल 2008 में हुआ था जब बिना शतक के कोहली का पूरा साल खत्म हो गया था.