बुमराह

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज अजीत अगरकर जसप्रीत बुमराह पर विश्वास जताते हुए कहते हैं कि मुझे विश्ववास है कि जसप्रीत को भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से जो मौका दिया गया है, वह उसे ठीक प्रकार से निभाने की क्षमता रखते हैं। उन्हें भारतीय टीम ने मौका देकर उनके कौशल को निखारने का बेहतरीन तोहफा दिया है।

साल 2018 में केपटाउन में किया पदार्पण

बुमराह

जनवरी 2018 में केपटाउन में टेस्ट में पदार्पण करने के बाद से जसप्रीत बुमराह ने छलांग और सीमा में सुधार किया है और जिसके बाद वह सभी प्रारूपों, खासकर टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम का एक अभिन्न हिस्सा बन गए हैं। बुमराह ने अब तक 12 टेस्ट मैचों में भाग लिया है, जिसमें उन्होंने 19.24 की औसत से 62 विकेट झटके हैं, इस प्रकार वह भारतीय गेंदबाजी इकाई की सबसे मजबूत कड़ी बन गए हैं।

अभी तक विदेशो में टेस्ट खेलते रहे हैं बुमराह

जसप्रीत बुमराह

बुमराह ने अभी तक जितने मैच खेले थे, वे सभी विदेशी धरती पर खेले थे। उन्होंने लगभग 12 मैच खेले थे(दक्षिण अफ्रीका में 3, इंग्लैंड में 3, ऑस्ट्रेलिया में 4 और वेस्टइंडीज में 2) जहां विकेट स्वाभाविक रूप से पेसरों की मदद करते हैं। इन सभी स्थानों पर, मुंबई के दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने शानदार प्रदर्शन किया । हालांकि, उनके खेल की असली परीक्षा तब होगी जब होगी जब वह अपनी सरजमीं पर बेहतर खेल का प्रदर्शन कर पाएंगे।

बुमराह
अजीत अगरकर ने कहीं अपने मन की बात

“अनुभव के साथ, हर कोई देख सकता है कि उसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में क्या प्रगति की है। मैं उससे भारत में भी अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद करता हूं। जाहिर है, कई बार ऐसा होगा जब श्रृंखला में स्पिनर हावी होंगे।”

 उन्होंने कहा,

“मुझे नहीं लगता कि उनके लिए स्थितियां मायने रखती हैं। उनके पास भारतीय परिस्थितियों में भी प्रदर्शन करने का कौशल है.”