भारत और श्रीलंका के बीच 2 मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा और अंतिम टेस्ट मैच शनिवार से शुरू होने जा रहा है। शनिवार को दोनों ही टीमें पिंक बॉल टेस्ट मैच खेलने उतरेगी, जो डे-नाइट प्रारूप में खेला जाएगा। बैंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में होने वाले इस टेस्ट मैच में रोमांच अपने चरम पर रहेगा।

डे-नाइट टेस्ट में भारत की प्लेइंग-11 पर नजरें

भारतीय टीम इस डे-नाइट टेस्ट मैच को लेकर मैदान में जमकर पसीना बहा रही है। भारतीय टीम पिछले कुछ दिनों से लगातार नेट प्रैक्टिस कर रही है। भारत पहले टेस्ट की जीत को दूसरे मैच में भी बरकरार रखना चाहेगा।

भारत को इस डे-नाइट टेस्ट मैच में भी जीत का प्रबल दावेदार तो माना जा रहा है। लेकिन वहीं टीम मैनेजमेंट के सामने इस टेस्ट मैच के शुरू होने से पहले कई चीजों को लेकर सवाल होंगे। जिसमें प्लेइंग-11 को चुनना एक बड़ा सवाल होगा।

पिंक बॉल टेस्ट मैचों का नहीं है ज्यादा अनुभव-बुमराह

पिंक बॉल टेस्ट मैच को देखते हुए टीम मैनेजमेंट यहां स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल को मौका दें, या तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को इसे लेकर एक बढ़िया माथापच्ची देखने को मिल सकती है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय टीम के उपकप्तान जसप्रीत बुमराह ने बातचीत की।

जिसमें बुमराह ने कहा कि, “हमने पिंक बॉल से ज्यादा मैच नहीं खेले हैं, इसलिए हम इसके अभ्यस्त नहीं हैं। रोशनी के तहत खेल में समायोजन करने की आवश्यकता है। इसके लिए हम चर्चा कर रहे हैं।”

पिंक बॉल टेस्ट के लिए हम हैं तैयार

भारत के उपकप्तान ने आगे रवीन्द्र जडेजा और पिंक बॉल टेस्ट को लेकर कहा कि, “मुझे नहीं लगता कि रवींद्र जडेजा इतने अच्छे प्रदर्शन के बाद आराम करना चाहेंगे। वह बड़े स्तर पर अपने इस प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे।”

“मोहाली टेस्ट के बाद हमारे पास एक वैकल्पिक अभ्यास सत्र था और हमने पिंक बॉल से प्रैक्टिस की और बार-बार की। हमने रोशनी के नीचे किस प्रकार से खेले इन मुद्दों पर समायोजन करने की बात की। यह पेशेवर क्रिकेटरों के रूप में हमारे काम का हिस्सा है और हम इसके लिए तैयार हैं।”