जसप्रीत बुमराह 1 ही विकेट लेकर भी माने जा सकते हैं नायक

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

IND vs AUS- 3 मैचों में सिर्फ एक विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह इस वजह हैं जीत के सबसे बड़े हीरो 

IND vs AUS- 3 मैचों में सिर्फ एक विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह इस वजह हैं जीत के सबसे बड़े हीरो

भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया को तीन मैचों की वनडे सीरीज में मात दे दी है। इस सीरीज में भारतीय टीम का जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला जहां एक साथ कई खिलाड़ियों ने सीरीज जीत में खास भूमिका निभायी। लेकिन भारत के लिए जीत में प्रमुख खिलाड़ियों की बात हो रही है तो तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को शामिल नहीं किया जा रहा है।

जसप्रीत बुमराह को इस सीरीज में नहीं मिला ज्यादा फैम

जसप्रीत बुमराह…. भारतीय क्रिकेट टीम के लिए पिछले कुछ साल से सबसे प्रमुख तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने अपनी गेंदबाजी से विरोधी खेमे के छक्के छुड़ाएं हैं लेकिन इस सीरीज में बुमराह का प्रदर्शन लोगों को इसलिए नजर नहीं आ रहा है क्योंकि उन्होंने विकेट नहीं निकाले हैं।

IND vs AUS- 3 मैचों में सिर्फ एक विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह इस वजह हैं जीत के सबसे बड़े हीरो 1

एक तरफ जसप्रीत बुमराह के साथी गेंदबाज मोहम्मद शमी ने 3 मैचों में ही 7 विकेट चटकाए तो साथ ही युवा तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने भी 2 मैच में 3 विकेट हासिल किए लेकिन वहीं जसप्रीत बुमराह 3 मैचों में अपने नाम केवल 1 विकेट ही हासिल कर सके। तो क्या विकेट के आधार पर ही कोई गेंदबाज अपनी टीम की जीत में योगदान दे सकता है?

जसप्रीत बुमराह ने अपनी गेंदबाजी से रनों पर लगाया अंकुश

यहां पर जसप्रीत बुमराह केवल एक ही विकेट ले सके लेकिन उन्होंने अपनी गेंदबाजी में मोहम्मद शमी जितना ही बड़ा योगदान दिया है क्योंकि जसप्रीत बुमराह ने एक ऐसा काम किया है, जिससे की भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलियाई टीम पर दबाव बनाने का मौका मिला। यानि बुमराह ने सटिक गेंदबाज करते हुए कंगारू टीम को रनों से पूरी तरह से दूर किया।

आरोन फिंच

यानि अब आप समझ रहे होंगे कि जसप्रीत बुमराह 3 मैच में 1 विकेट लेने के बाद भी भारतीय टीम की जीत में उतना ही बड़ा योगदान दिया जितना बड़ा योगदान बाकी खिलाड़ियों ने दिया है। बुमराह ने जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए विकेट तो नहीं निकाल सके लेकिन उन्होंने आखिरी दो मैचों में बहुत ही सटिक गेंदबाजी करते हुए रनों पर अंकुश लगाया।

बुमराह ने आखिरी दोनों मैच में ऑस्ट्रेलिया पर बनाए रखा दबाव

भारतीय क्रिकेट टीम के यॉर्कर के महारथी बुमराह ने वैसे तो पहले मैच में अपने 7 ओवरों में 50 रन खर्च कर डाले थे। लेकिन उन्होंने राजकोट की रनों से भरी हुई पिच पर भी अपने 10 ओवर के कोटे में केवल 32 रन ही खर्च किए जिससे ऑस्ट्रेलिया को लक्ष्य तक पहुंचने में मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

IND vs AUS- 3 मैचों में सिर्फ एक विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह इस वजह हैं जीत के सबसे बड़े हीरो 2

इसके बाद बुमराह की वही लय निर्णायक वनडे मैच बैंगलुरू में भी देखने को मिली जहां पर बुमराह की सटिक गेंदबाजी के आगे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज खुलकर नहीं खेल सके और दूसरी तरफ इसका फायदा मोहम्मद शमी और अन्य गेंदबाजों को विकेट के रूप में मिला। इस मैच में बुमराह ने 10 ओवर में केवल 38 रन ही दिए। यानि आखिर के दोनों जीते हुए मैच में बुमराह ने 20 ओवरों में केवल 70 रन खर्च करते हुए जीत में बड़ा योगदान दिया।

Related posts