जावेद मियांदाद

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी जावेद मियादांद और इमरान खान के बीच रिश्ते खराब होते नजर आ रहे हैं। एक वक्त था जब मियांदाद की कप्तानी में इमरान खान खेला करते थे, लेकिन आज वह देश के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। अब मियादांद ने इमरान को खुली चुनौती दी है की वह बहुत जल्द राजनीति में उन्हें चुनौती देने आएंगे। उनका मानना है कि पीसीबी में देश के खिलाड़ियों को ही जगह मिलनी चाहिए।

पीसीबी के अधिकारी क्रिकेट के बारे में नहीं जानते

जावेद मियांदाद

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में एहसान मनी व वसीम खान बाहरी हैं। इसपर पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज जावेद मियांदाद ने प्रधानमंत्री इमरान खान का ध्यान पीसीबी की तरफ खींचने की कोशिश की। मियांदाद ने अपने यूट्यूब चैनल पर पीसीबी के मुद्दों पर बात करते हुए कहा,

“पीसीबी के सभी अधिकारी खेल के एबीसी को नहीं जानते हैं। मैं इमरान खान से व्यक्तिगत रूप से दुख की स्थिति के बारे में बात करूंगा। मैं किसी को भी नहीं छोड़ूंगा जो हमारे देश के लिए सही नहीं है। आप विदेश से एक व्यक्ति [वसीम खान] लाए हैं, अगर वह हमसे चोरी करता है तो आप उसे कैसे पकड़ेंगे?”

जावेद मियांदाद ने इमरान खान को दी खुली चुनौती, कहा मैं था आपका कप्तान, आप नहीं... 1

“क्या पाकिस्तान में हर कोई गुजर गया है कि आपको बाहर से किसी की ज़रूरत है? मैं चाहता हूं कि पाकिस्तान के लोग उठें। यदि आपके पास पूरे देश में एक बेहतर व्यक्ति नहीं है, तो आपको बाहर देखना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं है।”

मैं नहीं चाहता खिलाड़ी भविष्य में करे मजदूरी

अपने घरेलू क्रिकेट के पुनर्गठन के लिए, पीसीबी ने पिछले साल देश में विभागीय क्रिकेट को बंद कर दिया था। इसने राष्ट्रीय स्तर से नीचे क्रिकेट समुदाय के लिए आर्थिक संकट पैदा कर दिया है। उसी के बारे में बोलते हुए मियांदाद ने कहा,

“वर्तमान में जो खिलाड़ी खेल रहे हैं उनका क्रिकेट में एक बड़ा भविष्य होना चाहिए। मैं नहीं चाहता कि ये खिलाड़ी भविष्य में मजदूरों के रूप में समाप्त हों। उन्होंने विभागों को डंप करने के बाद खिलाड़ियों को बेरोजगार छोड़ दिया है और अब वे खुद रोजगार नहीं दे सकते। मैं यह पहले भी कह रहा था, लेकिन वे समझ नहीं पाए।“

मैं आपका कप्तान था

जावेद मियांदाद

मियांदाद ने विश्व कप विजेता कप्तान को खुद के बारे में बहुत अधिक सोचने और क्रिकेट के खेल पर पर्याप्त ध्यान न देने की बात भी कही। इसके अलावा, उन्होंने स्थिति से नियंत्रण से पहले इमरान को उचित कार्रवाई करने की चेतावनी दी।

“मैं आपका [इमरान खान का] कप्तान था, आप मेरे कप्तान नहीं थे। मैं ही था जिसने तुम्हे हर बार खेलाया। आपको लगता है कि आपके अलावा कोई भी क्रिकेट के बारे में नहीं जानता है। आपको अपने और अपने परिवेश के बारे में सोचना शुरू कर देना चाहिए। आपको उन लोगों के बारे में सोचना शुरू करना चाहिए जिन्हें आपने पीसीबी में बहुत देर से रखा है।”