हाज्लेवुड ने पहले ही टेस्ट में दिया सबसे बेहतर प्रदर्शन | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

हाज्लेवुड ने पहले ही टेस्ट में दिया सबसे बेहतर प्रदर्शन 

हाज्लेवुड ने वार्डर-गवास्कर ट्राफी के दुसरे मैच में भारत के खिलाफ अपना टेस्ट पदार्पण करते हुए पहली ही पारी में 5 विकेट लिया, हाज्लेवुड के इस प्रदर्शन की वजह से उनकी तुलना ऑस्ट्रेलिया के सबसे महानतम गेंदबाजो में से एक ग्लैन मैग्रा से की जा रही है.

हाज्लेवुड ने पहले ही टेस्ट में दिया सबसे बेहतर प्रदर्शन 1

2010 में अंडर-19 विश्वकप में पहली बार हाज्लेवुड ने ऑस्ट्रेलिया के लिए, खेला उसके बाद 2010 में ही हाज्लेवुड ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे पदार्पण किया, और जल्द ही उन्हें 2010 में भारत टूर पर ऑस्ट्रेलिया टीम में शामिल किया गया लेकिन चोटिल होने की वजह से वो नहीं खेल पाए.

पिछले साल शेफिल्ड-शील्ड टूर्नामेंट के फाइनल में उन्होंने 6 विकेट लिया और इस साल न्यूसाउथ वेल्स के लिए पहले ही मैच में 7 विकेट लिया, जिसके फलस्वरूप इस साल भारत के खिलाफ वार्डर-गवास्कर ट्राफी के लिए उन्हें ऑस्ट्रेलिया टीम में शामिल किया गया. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया विश्वकप को ध्यान में रखते हुए तेज गेंदबाजो में लगातार फेरबदल कर रही है, हालंकि हाज्लेवुड अपना पहला टेस्ट भारत के खिलाफ नहीं खेल पाए, लेकिन रयान हैरिश के चोटिल होने की वजह से उन्हें दुसरे मैच में मौका मिल गया, जिसका पूरा फायदा उठाते हुए उन्होंने चयनकर्ताओ के फैसले को सही ठहराया और 68 रन देकर 5 विकेट लिया.

अब केवल चयनकर्ता ही नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया के मौजुदा कोच का भी मानना है, कि हाज्लेवुड ऑस्ट्रेलिया के लिए लम्बी पारी खेलेंगे. जब हाज्लेवुड केवल 15 साल के थे तब उनके पिता ने एक ब्रिटिस बुकमेकर (किताब छापने वाले अंग्रेज) से $100 का सट्टा लगाया था, कि वुड 30 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के लिया टेस्ट खेलेंगा.

 

 

 

Related posts

Leave a Reply