जस्टिन लैंगर

पिछले कुछ साल में माहौल पूरी तरह से बदला है। लोगों के बीच जिस तरह से एक के बाद एक सोशल मीडिया के प्लेटफार्म आ रहे हैं उससे तो लोग उसी में डूब चूके हैं। सोशल मीडिया ने अपना एक जबरदस्त प्रभाव दिखाया है जिसकी एक नहीं बल्कि अनेकों प्लेटफॉर्म बन चुके हैं जो भले ही वहां पर तो लोगों को एक साथ जोड़ रहे हैं लेकिन साथ ही इसमें ऐसी भाषा भी यूज होती है जो लोगों को एक-दूसरे का दुश्मन बनाने का काम भी कर रहा है।

जस्टिन लैंगर सोशल मीडिया को मानते हैं दुश्मन

सोशल मीडिया पर आज दुनिया के ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते हैं जहां पर वो अपनी हर बात को शेयर करना पसंद करते हैं। इस दौरान कभी कोई ऐसी प्रतिक्रिया भी दे देता है जो बाकी को हर्ट कर सकता है।

ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर ने खिलाड़ियों को इस चीज से बचने की दी सलाह 1

तभी तो ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने सोशल मीडिया को एक दुश्मन करार दिया है। इसी कारण से ही दो लोगों के बीच दुश्मनी की भावना पैदा होती है।

जस्टिन लैंगर ने कहा जितना हो सके सोशल मीडिया से दूर रहे खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी रहे और मौजूदा समय में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के कोच जस्टिन लैंगर ने खिलाड़ियों को सलाह दी है कि वो सोशल मीडिया या सोशल नेटवर्किंग साइट्स से दूर रहे जिससे कि उन्हें अपशब्दों और धमकियों का सामना नहीं करना होगा।

ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर ने खिलाड़ियों को इस चीज से बचने की दी सलाह 2

ऑस्ट्रेलिया

जस्टिन लैंगर ने चार्ली वेबस्टर के माई स्पोर्टिंग माइंट पॉडकास्ट में अपनी बात को शेयर करते हुए कहा कि अगर मैं युवा खिलाड़ियों को कोई सलाह दूंगा, तो मैं उस किसी भी व्यक्ति को यही सलाह दूंगा कि जो चर्चित है कि जीरो सोशल मीडिया (यानि सोशल मीडिया से दूर रहें।)

मैं नहीं चाहता कि कभी कोई अजनबी हमें से सलाह

उन्होंने आगे कहा कि

मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मैं नहीं चाहता कि कोई भी अजनबी मुझे आकर कहे कि मैं कितना अच्छा हूं और सबसे अहम चीज है कि मैं नहीं चाहूंगा कि अजनबी आकर मुझे बताए कि मैं कितना बुरा हूं क्योंकि मैं जानता हूं कि मैं अच्छा खेल रहा हूं या बुरा खेल रहा हूं।”

ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर ने खिलाड़ियों को इस चीज से बचने की दी सलाह 3

“मैं नहीं चाहता हूं कि मुझे अजनबी ये सब बताएं। मैं ये जरूर चाहूंगा कि जिन लोगों का मैं सम्मान करता हूं मेरे परिवार वाले और दोस्त, वे ऐसा करें।”

जस्टिन लैंगर ने ये सब बाते उस बात को लेकर की जिसमें पिछले साल न्यूजीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड के गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ा था। लैंगर ने कहा कि “वो ये देखकर हैरान रह गए कि उनकी टीम को पिछले साल विश्व कप और एशेज के दौरान ऑनलाइन गाली दी गई।”