कर्ण शर्मा

रणजी ट्रॉफी में लगातार युवा खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करते हुए सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं. इसी क्रम में मुंबई के खिलाफ खेलते हुए रेलवे क्रिकेट टीम के कप्तान कर्ण शर्मा ने शानदार शतकीय पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई है. इसके बाद कर्ण ने भारतीय क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करने की इच्छा जाहिर की है.

भारत के लिए खेलना चाहते हैं कर्ण शर्मा

कर्ण शर्मा

रेलवे क्रिकेट टीम के कप्तान कर्ण शर्मा ने मुंबई के खिलाफ शतक बनाया. उन्होंने 146 गेंदों पर 112 रन की तूफानी पारी खेलकर टीम को शानदार जीत दिलाई. जीत दर्ज करने के बाद कर्ण ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलने की इच्छा जाहिर करते हुए कहा,

“मैं किसी के साथ प्रतिस्पर्धा नहीं कर रहा हूं. मैं जहां भी खेलता हूं वहां अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं. यदि टीम अच्छा प्रदर्शन करती है, तो आपका प्रदर्शन अपने आप उजागर हो जाएगा.

जाहिर है, अगर मैं प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल रहा हूं, तो यह साथ है. हां, मैं भारत के लिए खेलने का उद्देश्य है और मैं समय को बर्बाद नहीं करना चाहता.

मेरा हमेशा से मानना ​​है कि क्रिकेट में किस्मत कभी भी बदल सकती है. दो पांच विकेटों की ललक आपको रैंकिंग में ला सकती है.”

41 बार की चैम्पियन मुंबई को 10 विकेट से हराने के बाद रेलवे के कप्तान ने जताई भारत से खेलने की इच्छा 1

मौका मिला तो सुधारुंगा अपनी गलती

स्पिन गेंदबाज कर्ण शर्मा ने 2014 में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए डेब्यू करते हुए 1 टेस्ट, 2 वनडे और 1 टी20 मैच खेला था. इसमें कुल गेंदबाज के पास 5 विकेट्स हैं. खराब प्रदर्शऩ के चलते कर्ण को टीम से बाहर कर दिया गया और अब तक उन्हें दोबारा टीम में जगह नहीं मिल सकी है. अपनी गलतियों को सुधारने के बारे में बात करते हुए कर्ण ने कहा,

क्या हो रहा है, इसके बारे में सोचने का कोई मतलब नहीं है. मुझे लगता है कि अगर मुझे कभी भारत के लिए दोबारा खेलने का मौका मिलता है, तो मैं अपनी गलतियों को सुधारूंगा.

मुंबई में मुंबई के खिलाफ शतक बनाना बहुत अच्छा लग रहा है, खासकर जब हम संकट में थे. आज बल्लेबाजी करना आसान नहीं था और आज सुबह भी नहीं.

रेलवे ने मुंबई पर दर्ज की 10 विकेट से जीत

41 बार की चैम्पियन मुंबई को 10 विकेट से हराने के बाद रेलवे के कप्तान ने जताई भारत से खेलने की इच्छा 2

मुंबई और रेलवे के बीच वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए मैच में मेहमान टीम ने 10 विकेट्स से शानदार जीत दर्ज की. इस मैच में मुंबई की टीम टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 114 रन पर ऑलआउट हो गई. जवाब में रेलवे के कप्तान कर्ण शर्मा की 112 रन की शतकीय और अरिंदम घोष की 72 रन की अहम पारी की मदद से टीम ने 266 रन बनाए.

दूसरी पारी में भी मुंबई की टीम 198 पर ही ऑलआउट हो गई. इसमें कप्तान सूर्य कुमार यादव ने 65 रन की अर्धशतकीय पारी खेली. तो वहीं रेलवे की टीम ने आराम से दूसरी पारी में बिना एक भी विकेट गंवाए पूरे 10 विकेट से जीत दर्ज कर ली.