विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल मैच में कर्नाटक ने सौराष्ट्र को 41 रन से हराया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा

भारतीय घरेलु क्रिकेट के सबसे बड़े वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी का खिताबी मुकाबला कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच खेला गया। मंगलवार को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल मैच में कर्नाटक ने सौराष्ट्र को 41 रनों से हराकर वनडे टाइटल का खिताब अपने नाम कर लिया।  कर्नाटक ने पहले खेलते हुए 253 रन बनाए थे तो इसके जवाब में सौराष्ट्र की टीम 212 रनों पर ढे़र हो गई।

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 1

कर्नाटक की हुई खराब शुरूआत

विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल मैच में अब तक पूरी टूर्नामेंट में जबरदस्त प्रदर्शन करने वाली टीम कर्नाटक के कप्तान करूण नायर टॉस तो गंवा बैठे लेकिन सौराष्ट्र के कप्तान चेतेश्वर पुजार ने टॉस का बॉस बनने के बाद कर्नाटक को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। कर्नाटक के फॉर्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज मंयक अग्रवाल और करूण नायर पारी की शुरूआत करने उतरे लेकिन कर्नाटक को देखते ही देखते करूण नायर और केएल राहुल के रूप में दो बड़े झटके केवल 5 रन पर ही लग गए।

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 2

मंयक अग्रवाल की 90 रनों की पारी की मदद से बनाए 253 रन

कर्नाटक के दो बड़े विकेट सस्ते में आउट होने के बाद मंयक अग्रवाल ने एक सिरे पर आक्रमण करना शुरू कर दिया तो वहीं दूसरी तरफ आर समर्थ ने मयंक पांडे का पूरा साथ दिया। दोनों ही बल्लेबाजों ने कर्नाटक के स्कोर को तीसरे विकेट के लिए 136 रनों की साझेदारी कर 141 तक पहुंचा दिया। लेकिन मंयक अग्रवाल के 90 रनों के स्कोर पर आउट होते ही कर्नाटक की पारी लड़खड़ा गई। कर्नाटक के कुछ ही देर में 167 रनों पर 5 विकेट गिर गए। और इसके बाद जैसे-तैसे कर्नाटक 253 रन बनाकर ऑलआउट हो गई।

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 3

सौराष्ट्र की टीम भी लड़खड़ाई

इसके बाद विजय हजारे ट्रॉफी का खिताब जीतने के लिए सौराष्ट्र की टीम को 254 रनों की जरूरत थी। सौराष्ट्र की पारी की भी खराब शुरूआत रही और उनके दो विकेट 15 रनों पर ही गंवा दिए। इसके बाद कप्तान चेतेश्वर पुजारा ने एक छोर छामा और तीसरे विकेट के लिए ए बारोट के साथ 62 रन जोड़े।

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 4

नौवें विकेट के लिए पुजारा-मकवाना की जोड़ी ने मैच में बनाया रोमांच

पुजारा एक सिरे पर डटे रहे लेकिन इसके बाद दूसरे सिरे से विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया और कुछ ही देर में कर्नाटक ने वापसी करते हुए सौराष्ट्र के स्कोर को 135 रनों पर 8 विकेट कर दिया।लेकिन इसके बाद कप्तान चेतेश्वर पुजारा ने कमलेश मकवाना के साथ नौवें विकेट के लिए 65 रन जोड़कर मैच में एक बार फिर से मैच में रोमांच ला दिया।

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 5

पुजारा को आउट कर कर्नाटक ने किया खिताब पर कब्जा

लेकिन पारी के 45वें ओवर में चेतेश्वर पुजारा एक रन लेने के प्रयास में 94 रनों के स्कोर पर रन आउट हो गए और सौराष्ट्र को 200 रनों के स्कोर पर नौवां झटका लगा और साथ ही उनके जीतने की उम्मीदें भी धूमिल हो गई। और सौराष्ट्र की टीम 212 रनों के स्कोर पर आउट हो गई और कर्नाटक ने खिताबी मुकाबला 41 रनों से जीत लिया।

विजय हजारे ट्रॉफी- कर्नाटक और सौराष्ट्र के बीच दिखी कांटे की टक्कर, इस राज्य ने जमाया फाइनल जीत ट्राफी पर कब्जा 6
फाइल

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो जो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें।

Related posts

Leave a Reply