//

… तो ऐसे शुरू हुआ था केदार जाधव की मिस्ट्री गेंदबाजी का सफ़र, रोचक हैं पहली गेंद से अभी तक कहानी

भारतीय टीम के ऑलराउंडर केदार जाधव को विश्व कप टीम में जगह मिली है। हालाँकि, आईपीएल में फील्डिंग के दौरान वह चोटिल हो गये थे। इसके बाद से उनकी फिटनेस पर सवाल बने हुए हैं। केदार विश्व कप में भारतीय टीम के महत्वपूर्ण खिलाड़ियों साबित होने वाले हैं। बल्लेबाजी के साथ ही उनकी गेंदबाजी पर टीम काफी निर्भर रहेगी।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

केदार जाधव का कमाल का गेंदबाजी रिकॉर्ड

केदार जाधव

विकेटकीपर बल्लेबाज केदार जाधव ने पहली बार न्यूजीलैंड के खिलाफ 2016 में धर्मशाला में हुए वनडे मैच में गेंदबाजी की थी। उस मैच में उन्होंने तीन ओवर की गेंदबाजी में 6 रन देकर दो बल्लेबाजों को आउट किया था।

इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। केदार की लम्बाई काफी कम है और गेंदबाजी में वह इसका पूरा फायदा उठाते हैं। इसके साथ ही वह काफी झुक जाते हैं, इससे बल्लेबाजों को गेंद के नीचे आने का मौका नहीं मिला।

कैसे शुरू की गेंदबाजी?

केदार जाधव

 

केदार जाधव ने खुलासा किया है कि उन्होंने कैसे गेंदबाजी शुरू की थी। उन्हें महेंद्र सिंह धोनी ने धर्मशाला वनडे से पहले कहा था कि इस मैच में तुम्हें 3-4 ओवर की गेंदबाजी करनी पड़ सकती है। इसके बाद जाधव प्रैक्टिस करने लगे। वेब सीरीज व्हाट द डक में उनके बारे में बताते हुए केदार ने कहा

“मैं नेट्स ने नार्मल ऑफ स्पिन डाल रहा था तो मैंने थोड़ा अलग करने की कोशिश की और हाथ नीचे करके गेंदबाज डाला। उस समय अमित मिश्रा बल्लेबाजी कर रहे थे और गेंद लेग स्टम्प के बाहर गिरने के बाद उनके पैड पर आकर लग गयी।”

अनिल कुंबले से मांगी राय

केदार जाधव

केदार जाधव ने उसके बाद उस समय के भारतीय कोच अनिल कुंबले को अपनी गेंदबाजी एक्शन दिखाया। केदार को डर था कि यह एक्शन लीगल और यह नहीं। इस बारे में उन्होंने आगे बताया

“इसके बाद मैंने अनिल भाई को अपनी गेंदबाजी दिखाई और उनसे पूछा की एक्शन सही है या नहीं। उन्होंने कहा कि जब तक हाथ कंधे से ऊपर से आ रहा है, तब तक कोई परेशानी नहीं है। इसके बाद मैं टांगो से नीचे होकर गेंद फेंकने लगा।”