कीगन पीटरसन बने 'मैन ऑफ द मैच' और 'मैन ऑफ द सीरीज' भारतीय टीम के लिए कही दिल छू लेने वाली बात 1

IND VS SA: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच (IND VS SA) खेली गई 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में मेजबान टीम के युवा बल्लेबाज़ कीगन पीटरसन ने अपने शानदार प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया. तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में 200 से अधिक रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए पीटरसन ने एक बार फिर 82 रनों की अहम पारी खेली और अपनी टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया. इस शानदार प्रदर्शन का उन्हें ईनाम भी मिला है.

पीटरसन ने इंडियन पेस का डटकर किया सामना

कीगन पीटरसन

भारत के खिलाफ खेली गई इस टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका की टीम में कुछ बड़े नाम बाहर थे. ऐसे में टीम को संभालने की ज़िम्मेदारी उठाई 28 साल के कीगन पीटरसन ने, जिन्होंने भारत की मजबूती गेंदबाजी के सामने अद्भुत धैर्य आर निडरता से बल्लेबाजी की. केपटाउन टेस्ट की दूसरी पारी में इस बल्लेबाज़ ने 113 गेंदों में 10 चौकों की मदद से 82 रनों की शानदार पारी खेलकर पूरी तरह से मैच का रुख अपनी टीम के पक्ष में झुका दिया.

कीगन पीटरसन बने प्लेयर ऑफ़ द मैच और सीरीज

कीगन पीटरसन

इसके अलावा पीटरसन इस पूरी सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ भी रहे. उन्होंने इस सीरीज में खेले 3 मुकाबलों में 46 की शानदार औसत से 276 रन बनाए. इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ़ द मैच और प्लेयर ऑफ़ द सीरीज के खिताब से भी नवाज़ा गया. सीरीज के तीसरे और अंतिम मुकाबले को 7 विकेट से जीत कर मेजबान टीम ने 2-1 से इस सीरीज पर कब्ज़ा कर लिया है.

मैच के बाद भावुक हुए कीगन पीटरसन

कीगन पीटरसन

भारत के खिलाफ सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने के लिए कीगन पीटरसन को प्लेयर ऑफ़ द मैच के साथ-साथ प्लेयर ऑफ़ द सीरीज भी चुना गया. मैच के बाद दक्षिण अफ्रीका के इस बल्लेबाज़ ने कहा,

“मेरे पास शब्द नहीं हैं. मैं खुश हूं और भावुक भी. मैंने अपनी पारी में सकारात्मक पहलुओं पर ध्यान दिया और सीखता गया. मैंने आत्मविश्वास रखा और खेलता चला गया. मेरी यात्रा कठिन रही है. टेस्ट क्रिकेट में आना भी आसान नहीं था और परिस्थितियां भी मुश्किल थी. हम जानते थे कि इस विश्व स्तरीय गेंदबाज़ी आक्रमण के ख़िलाफ़ कुछ भी आसान नहीं होगा. मुझे क्रीज़ पर समय बिताने में मज़ा आया. मैं जानता था कि समय बिताने के बाद रन आएंगे.”