IND vs SA ODI Kl Rahul told because of this Team India lose first oneday

भारतीय क्रिकेट गलियारों में मौजूदा वक्त में रोहित शर्मा, विराट कोहली जैसे बल्लेबाजों की खूब चर्चा होती है। इन दोनों ही दिग्गज बल्लेबाजों की चर्चा के बीच एक नाम पिछले कुछ साल में छाया रहा है, वो है केएल राहुल का नाम…

केएल राहुल का नाम आज है विश्व क्रिकेट की जुबां पर

कर्नाटक के स्टार बल्लेबाज केएल राहुल ने साल 2015 में ही भारतीय टीम में एन्ट्री कर ली थी, लेकिन उनका वास्तविक रूप साल 2019 से देखने को मिल रहा है। केएल राहुल धीरे-धीरे आज भारतीय क्रिकेट टीम के उपकप्तान बन चुके हैं।

KL Rahul

केएल राहुल का नाम आज भारतीय क्रिकेट ही नहीं बल्कि विश्व क्रिकेट में भी फैंस की जुबां पर है। इस बल्लेबाज का भारतीय क्रिकेट टीम के लिए तीनों ही फॉर्मेट में अहम स्थान बन चुका है।

केएल राहुल का कैसे पड़ा राहुल नाम, खुद किया खुलासा

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए आज बहुत बड़ा नाम बन चुके केएल राहुल का आखिर राहुल नाम कैसे पड़ा, आखिर किसने केएल को राहुल नाम दिया, इसका खुलासा खुद इस स्टार बल्लेबाज ने किया। ये नाम उन्हें उनकी मां ने दिया है, जो बॉलीवुड के दिग्गज शाहरुख खान की बहुत बड़ी प्रशंसक थी।

kl rahul lko team captain

शाहरुख खान का हिंदी फिल्मों में 90 के दशक में राहुल नाम ज्यादातर रहता था, इसी वजह से केएल राहुल की मां ने ही उनका ये नाम रखा। वैसे उनके पिता केएल का नाम रोहन रखना चाहते थे, क्योंकि वो सुनील गावस्कर के बहुत बड़े फैन थे और सुनील गावस्कर ने उनके बेटे का नाम रोहन रखा था।

राहुल नाम मां ने दिया, लेकिन पिता चाहते थे दूसरा नाम

ब्रैकफास्ट विद द चैंपियंस कार्यक्रम में केएल राहुल ने कहा कि “मेरे नाम के बारे में मेरी मां की कहानी यह थी कि वह शाहरुख खान की बहुत बड़ी प्रशंसक थीं और 90 के दशक में उन्होंने कई फिल्मों में राहुल के नाम से अभिनय निभाया था। इसलिए, मेरा नाम राहुल रखा गया।”

भारत के स्टार बल्लेबाज केएल राहुल का खुलासा, बताया आखिर कैसे उन्हें मिला राहुल नाम 1

केएल राहुल ने आगे बताया कि उनकी मां ने राहुल नाम रखने को लेकर झूठ बोला था, आगे कहा कि  “जब मैंने उनसे इस बारे में पूछा, तो मेरी मां ने कहा, “ऐसा कुछ .. अब कौन परवाह करता है। उनके पिता सुनील गावस्कर के बहुत बड़े प्रशंसक रहे हैं। चूंकि गावस्कर ने अपने बेटे का नाम रोहन रखा था, इसलिए मेरे पिता भी अपने बेटे का नाम ‘रोहन’ रखना चाहते थे।”