PBKSvsRR : केएल राहुल ने बड़ा दिल दिखाते हुए खुद को नहीं, इन 2 युवा खिलाड़ियों को दिया जीत का श्रेय 1

आईपीएल के चौथे मैच में केएल राहुल (KL Rahul) की कप्तानी वाली पंजाब किंग्स के सामने थी नए कप्तान संजू सैमसन की कप्तानी में खेल रही राजस्थान रॉयल्स. इस मैच में संजू सैमसन ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया. जिसके बाद पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी पंजाब के लिए कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) ने 91 रनों की और दीपक हुड्डा ने 64 रनों की शानदार अर्धशतकीय पारियाँ खेली.

राजस्थान की टीम को हार ज़रूर मिली लेकिन कप्तान संजू सैमसन (Sanju Samson) को इसके बावजूद 119 रनों की बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया. इसके अलावा 14वें सीज़न में जीत के साथ शुरुआत करने वाली पंजाब किंग्स की  टीम के कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) ने  मैच के बाद इस करीबी जीत को लेकर काफ़ी विस्तार से बात की.

टीम पर विश्वास जताने का मिला फ़ायदा – केएल राहुल

KL Rahul

मैच जीतने के बाद टीम के लिए 91 रनों की पारी खेलने वाले कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) ने पोस्ट-मैच प्रेज़ेंटेशन में कहा कि,

“मैंने कभी भी टीम पर विश्वास करना कम या बंद नहीं किया और हम ये जानते थे कि 1-2 विकेट्स चटका कर हम मैच में वापसी कर सकते हैं. खेल इतनी आखिर तक मेरी वजह से भी गया, क्योंकि हमने काफ़ी आसान कैच छोड़े भी. 11वें-12वें ओवर तक हम अच्छी गेंदबाज़ी कर रहे थे. 

हम इस तरह की स्थिति से गुज़र चुके हैं और ये कुछ नया नहीं था. लेकिन एक ऐसी जीत वाक़ई में टीम को एक साथ ला कर खड़ा करती है. हमने बल्लेबाज़ी काफ़ी अच्छी की और गेंदबाज़ी भी अच्छी तो की मगर टुकड़ों में. हमारी लेंग्थ में निरंतरता नहीं थी लेकिन हाँ बॉलर्स अभी सीखेंगे.”

कप्तान ने जम कर की अर्शदीप और हुड्डा की तारीफ

PBKSvsRR : केएल राहुल ने बड़ा दिल दिखाते हुए खुद को नहीं, इन 2 युवा खिलाड़ियों को दिया जीत का श्रेय 2

इसके बाद केएल राहुल (KL Rahul) ने टीम को लेकर बोलते हुए आगे कहा कि,

“टीम में काफ़ी टैलेंटेड और स्किल्ड खिलाड़ी हैं और उनके साथ खड़े रहना बेहद अहम है. हुड्डा  (Deepak Hooda)ने जो पारी खेली वो वाक़ई शानदार और काबिलेतारीफ़ थी और इसी तरह की बेखौफ़ बल्लेबाज़ी की ज़रूरत हमें आईपीएल में होती है. हम कई बार ऊप-नीचे भी होते हैं इसलिए हमारे लिए ज़रूरी हो जाता है कि बिना डरे खेलें. 

इसलिए मुझे खुशी है खिलाड़ी हमारी उम्मीदों पर खरे उतरे. गेल और हु़ड्डा, दोनों ने काफ़ी शानदार बल्लेबाज़ी की. मैं हमेशा अहम ओवरों में गेंदबाज़ी के लिए अर्शदीप (Arshdeep Singh) को ही चुनता हूँ और वो भी दबाव की स्थिति को एंजॉय करते हैं. उन्हें मुक़ाबले में बने रहना काफ़ी अच्छा लगता है, इसके अलावा उन्हें अपनी स्किल पर पूरा भरोसा जो कि काफ़ी अच्छी चीज़ है.”

Umesh Sharma

Everything under the sun can be expressed in written form. So, I am practicing the same since the time I hold my consciousness and came to know pen and paper. Apart from being Writer, Journalist or...