NZ vs IND: केएल राहुल ने बताया, कैसे विकेटकीपिंग से उनकी बल्लेबाजी को हो रहा फायदा?

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

NZ vs IND: केएल राहुल ने बताया, कैसे विकेटकीपिंग से उनकी बल्लेबाजी को हो रहा फायदा? 

NZ vs IND: केएल राहुल ने बताया, कैसे विकेटकीपिंग से उनकी बल्लेबाजी को हो रहा फायदा?

न्यूजीलैंड और भारत के बीच टी-20 सीरीज का पहला मैच ऑकलैंड में खेला गया। भारतीय टीम ने इस मैच को 6 विकेट से अपने नाम कर 5 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। टीम के लिए श्रेयस अय्यर ने 58 रनों की पारी खेली वहीं नए विकेटकीपर केएल राहुल के बल्ल से भी 56 रन निकले।

विकेटकीपिंग का मिल रहा फायदा

NZ vs IND: केएल राहुल ने बताया, कैसे विकेटकीपिंग से उनकी बल्लेबाजी को हो रहा फायदा? 1

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में केएल राहुल को चोटिल ऋषभ पंत की जगह कीपिंग करने का मौका मिला था। उसके बाद उन्होंने इस स्थान को अपना बना लिया। उनका कहना है कि विकेटकीपिंग करने से पिच के बारे में पहले पता चल जाता है। पहले मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल ने कहा

“मुझे स्टंप के पीछे रहने में मजा आता है और इससे मुझे यह भी पता चलता है कि पिच कैसे खेल रही है, और मैं उस संदेश को गेंदबाजों और कप्तानों को भी दे सकता हूं। इससे उन्हें फील्डिंग लगाने में मदद मिलती है। एक बल्लेबाज के रूप में, 20 ओवरों के लिए कीपिंग करने के बाद, खासकर इस तरह के विकेट पर अच्छे शॉट क्या हैं, इस बारे में आपको सही अंदाजा है।”

अय्यर की पारी को सराहा

NZ vs IND: केएल राहुल ने बताया, कैसे विकेटकीपिंग से उनकी बल्लेबाजी को हो रहा फायदा? 2

श्रेयस अय्यर ने नंबर 4 पर आकर भारत के लिए मैच विनिंग पारी खेली। केएल राहुल और विराट कोहली 8 गेंदों के भीतर आउट हो गए थे। इसके बाद अय्यर ने 29 गेंदों में 58 रनों की नाबाद पारी खेलकर टीम को जीत दिला दी। राहुल ने अय्यर के इस पारी की भी तारीफ की। उन्होंने कहा

“यह शानदार फिनिश था। आईपीएल कप्तान होने की जिम्मेदारी, वह समझ चुके हैं कि खेलों को कैसे खत्म किया जाए। उन्होंने आखिरी वनडे में भी जिम्मेदारी दिखाई और यहां भी। वे हमारे लिए अच्छे संकेत हैं।”

इसके बाद अपने फॉर्म के बारे में बात करते हुए राहुल ने कहा

“मैंने पिछले डेढ़ साल में ठीक ऐसा ही सीखा है कि यह मेरा खेल है, जहां मैं क्रिकेटिंग खेलता हूं। अगर मैं प्रत्येक पारी में उस विश्वास और दिमाग को आगे बढ़ा सकता हूं तो यह मुझे और अधिक मदद करेगा और मैं अधिक सफल हो सकता। साथ ही मैं टीम के लिए निरंतर भी रह सकता हूं।”

Related posts