///

महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की पढ़ाई पर एक नजर, जाने 12वीं में कितने प्रतिशत अंक मिले

भारतीय क्रिकेट टीम में एक से एक बड़े दिग्गज खिलाड़ी हुए हैं। इन खिलाड़ियों में मौजूदा दौर के दो खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी बहुत ही बड़े खिलाड़ी हैं। आज इन दोनों ही भारतीय बल्लेबाजों की गिनती क्रिकेट जगत के चुनिंदा खिलाड़ियों में की जाती है।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

विराट कोहली और महेन्द्र सिंह धोनी हैं भारतीय क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी

आज विराट कोहली दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं जिन्होंने एक से एक कीर्तिमान को अपने नाम किया है। तो वहीं महेन्द्र सिंह धोनी एक कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में बहुत ही जबरदस्त रहे हैं।

धोनी-कोहली

महेन्द्र सिंह धोनी और विराट कोहली का क्रिकेट जगत में बड़ा नाम है जिनका लोहा आज ना केवल भारतीय क्रिकेट बल्कि पूरा क्रिकेट जगत मानता है। धोनी और विराट कोहली क्रिकेट के मामले में तो सर्वश्रेष्ठता को सिद्ध कर चुके हैं।

महेन्द्र सिंह धोनी और विराट कोहली की एजकेशन पर एक नजर

यहां भारत के इन दो बड़े नामी खिलाड़ियों के क्रिकेट के बारे में तो हर कोई जानता है लेकिन ऐसे कई क्रिकेट फैंस होंगे जो महेन्द्र सिंह धोनी और विराट कोहली की एजुकेशन के बारे में भी जानना चाहते होंगे। ये दोनों खिलाड़ी पढ़ाई में कैसे रहे हैं इससे आज आपको रूबरू करवाते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की पढ़ाई पर एक नजर, जाने 12वीं में कितने प्रतिशत अंक मिले 1

महेन्द्र सिंह धोनी 12वीं में हासिल कर सके केवल 56 प्रतिशत अंक

जहां तक महेन्द्र सिंह धोनी की बात करें तो वो बी कॉम के छात्र रहे हैं। महेन्द्र सिंह धोनी पढ़ाई में इतने ज्यादा भी अच्छे नहीं रहे हैं। उन्होंने 12वीं में 56 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। उस दौरान उन्हें खेलने के लिए रांची जाना पड़ता था। इस कारण से वो पढ़ाई में ज्यादा ध्यान नहीं दे सके।

धोनी

विराट कोहली ने 12वी की उत्तीर्ण, लेकिन गणित से थे परेशान

वहीं दूसरी तरफ जब विराट कोहली की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने 12वीं कक्षा जरूर उत्तीर्ण की। लेकिन उन्हें पढ़ाई के मामले में इतना अच्छा नहीं माना जाता था।  उन्होंने एक बार इंटरव्यू में अपने गणित विषय की स्थिति को बताया था।

महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की पढ़ाई पर एक नजर, जाने 12वीं में कितने प्रतिशत अंक मिले 2

उन्होंने कहा था कि “इसलिए तो गणित में, हमारी जब परीक्षाएं होती थी तो हमें 100 अधिकतम अंक में से मुझे तो केवल 3 ही मिलते थे। और मुझे कुछ समझ नहीं आता कि कोई गणित सीखना भी क्यों चाहेगा। मैं इसके पीछे की जटिलता को समझ नहीं पाया। मैंने जीवन में कभी उन योग का उपयोग नहीं किया।”

मैं सिर्फ अपनी 10वीं कक्षा की परीक्षा को इस माध्यम से प्राप्त करना चाहता था क्योंकि वो राज्य स्तर पर हुआ करती थी इसके बाद आप ये चुन सकते थे कि गणित को जारी रखना है या नहीं। मैं आपको बता रहा हूं कि क्रिकेट में कभी भी उस तरह की मेहनत नहीं की जैसा कि मैंने उस परीक्षा को पास करने में की।”