Virat Kohli

विराट कोहली दुनिया के सबसे भाग्यवान क्रिकेटर बनने के लिए तैयार है. दरअसल, वह क्रिकेट की दुनिया में ऐसा रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं, जो आजतक कोई क्रिकेटर अपने नाम नहीं कर पाया है. उनके इसी शानदार और दिलचस्प रिकॉर्ड को हम आपकों अपने इस खास लेख में बताएंगे.

विराट तीनों फॉर्मेट का फाइनल खेलने वाले बनेंगे एकलौते खिलाड़ी

विराट कोहली बनेंगे दुनिया के सबसे भाग्यवान क्रिकेटर, ऐसा करने का सौभाग्य किसी को नहीं मिला आजतक 1

दरअसल, विराट कोहली तीनों फॉर्मेट के फाइनल खेलने वाले एकलौते खिलाड़ी बनने वाले हैं. इंग्लैंड के खिलाफ 4 मैचों की टेस्ट सीरीज आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण थी.

WTC के फाइनल में पहुंचने के लिए भारत को इस सीरीज में कम से कम 2 मैच में जीत और एक में ड्रॉ चाहिए था. हालांकि भारत ने सीरीज में 3 मैच जीतकर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है. ऐसे में विराट कोहली को अब तीनों फॉर्मेट का फाइनल खेलने का सौभाग्य मिलने वाला है.

2011 में वनडे और 2014 में खेल चुके टी-20 विश्व कप फाइनल

विराट कोहली बनेंगे दुनिया के सबसे भाग्यवान क्रिकेटर, ऐसा करने का सौभाग्य किसी को नहीं मिला आजतक 2

भारत ने साल 2011 का वनडे विश्व कप जीता था. इस विश्व कप का हिस्स विराट कोहली भी थे. उस मैच में वह श्रीलंका के खिलाफ फाइनल मुकाबला भी खेले थे. उन्होंने फाइनल मैच में 49 गेंदों पर 35 रन की पारी खेली थी. अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने 4 चौके लगाए थे. भारत ने यह फाइनल मुकाबले 6 विकेट से अपने नाम किया था.

वहीं बांग्लादेश में खेले गए साल 2014 के टी-20 विश्व कप में भी विराट भारतीय टीम का हिस्सा थे. इस टी-20 विश्व कप में भी भारत के सामने फाइनल श्रीलंका की टीम थी.

इस मैच में विराट कोहली ने 58 गेंदों पर 77 रन की पारी खेली थी और अपनी इस पारी में उन्होंने 5 चौके और 4 छक्के लगाए थे. हालांकि यह मैच में भारतीय टीम को 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था.

अब WTC के फाइनल में उतरते ही बनेंगे भाग्यवान क्रिकेटर

विराट कोहली बनेंगे दुनिया के सबसे भाग्यवान क्रिकेटर, ऐसा करने का सौभाग्य किसी को नहीं मिला आजतक 3

अब अगर विराट कोहली WTC के फाइनल खेलने उतरेंगे, तो वह टी-20 और वनडे विश्व कप के बाद टेस्ट का भी विश्व कप खेलने की उपलब्धि हासिल कर लेंगे.

न्यूजीलैंड की टीम आज तक टी-20 विश्व कप के फाइनल में ही नहीं पहुंची है. ऐसे में उनकी तरफ से कोई क्रिकेटर नहीं होगा. वहीं भारत के पास भी कोहली के अलावा तीनों टी-20 विश्व के फाइनल खेलना वाला और कोई खिलाड़ी नहीं होगा.

हां, रविचंद्रन अश्विन 2011 विश्व कप टीम का हिस्सा जरुर थे, लेकिन उन्हें फाइनल की प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं मिला था.

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul