विराट कोहली ने की अब तक की सबसे बड़ी गलती, कही इतिहास दोहराते हुए भारत गँवा न दे मुकाबला 1

श्री लंका के गॉल स्टेडियम में खेला जा रहा भारत और श्री लंका के बीच पहला टेस्ट मैच अब ऐसी स्थिति पर पहुंच चुका है, जहां से भारत को जीत का मजबूत दावेदार माना जा रहा है। हालांकि भारतीय कप्तान कोहली दूसरी पारी में श्री लंका को फॉलोऑन खेलने के लिए बुला सकते थे, लेकिन कोहली ने अपने फैसले से सबको अंचभित करके भारतीय बल्लेबाजों पर ज्यादा भरोसा जताये और टीम इंडिया को दूसरी पारी खेलने के लिए उतार दिया।

फॉलोऑन खेला सकते थे श्री लंका को-

विराट कोहली ने की अब तक की सबसे बड़ी गलती, कही इतिहास दोहराते हुए भारत गँवा न दे मुकाबला 2

आपको बता दें, भारत ने श्री लंका के खिलाफ पहली पारी में शानदार बल्लेबाजी करके 600 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया दिया। जिसके जवाब में बल्लेबाजी करने आयी श्री लंका की पूरी टीम मात्र  291 रनों पर सिमट गयी। इसके बाद भारत ने कुल 309 की बढ़त हासिल कर ली। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली श्री लंका को फॉलोऑन खेला सकते थे, पर उन्होंने ऐसा नहीं किया। हालांकि उनके इस फैसले पर कई दिग्गजों ने आलोचना की। दूसरी पारी में आई भारत की टीम ने बल्लेबाजी करके 550 रनों का लक्ष्य श्री लंका की टीम को दे दिया।STATS: फॉर्म में वापस लौटते ही विराट कोहली ने तोड़ा सचिन तेंदुलकर का सबसे बड़ा रिकॉर्ड

बारिश भी है एक बड़ी वजह-

विराट कोहली ने की अब तक की सबसे बड़ी गलती, कही इतिहास दोहराते हुए भारत गँवा न दे मुकाबला 3

श्री लंका की धरती पर बारिश का कुछ पता नहीं रहता। ऐसा ग़ॉल मैेदान पर खेले जा रहे टेस्ट मैच में तीसरे दिन के खेल में देखा जा चुका है। बारिश की वजह से डेढ़ घंटे खराब हो चुका था। अगर ऐसा अाखिरी के दो दिनों में हो जाये तो यह टेस्ट मैच ड्रा की ओर रूख कर सकता है। जिसके बाद विराट की सोच पर सवालिया निशान उठ सकते है। आपको बता दें. श्री लंका का मौसम कुछ इंग्लैंड के मौसम की तरह है जिसकी वजह से यहां बारिश की हमेशा संभावना बनी रहती है।

इतिहास में है कुछ कड़वी यादें-

विराट कोहली ने की अब तक की सबसे बड़ी गलती, कही इतिहास दोहराते हुए भारत गँवा न दे मुकाबला 4साल 2007 में भारतीय टीम के उस वक्त के कप्तान राहुल द्रविड़ के उस फैसलें की जमकर आलोचना हुयी थी जब भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर थी। तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के आखिरी टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी में 664 रन बनाये। जवाब में इंग्लैंड की टीम ने 345 रन पर ही सिमट गयी। भारत को 319 रनों की बढ़त मिली थी, जिसके कारण वह आसानी से फॉलोऑन दे सकता था। हालांकि टीम के कप्तान राहुल ने बल्लेबाजी का फैसला लिया ऐऱ भारत ने 180 रनों पर पारी घोषित कर दी। इंग्लैंड की दूसरी पारी में धैर्य धारण कर 369 रन बनाये और मैच को ड्रा कराने में सफलता प्राप्त हुयी थी।सीओए ने राहुल द्रविड़ को दी बेहद अहम जिम्मेदारी,जहीर खान को भी मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी