कुलदीप यादव

आईपीएल 2020 का आयोजन यूएई के स्पिन फ्रेंडली पिचों पर खेला जाएगा। क्रिकेट एक्सपर्ट्स पहले ही बता चुके हैं कि इस बार आईपीएल में स्पिन गेंदबाजों का बोलबाला रहेगा। अब इस बीच कोलकाता नाइट राइडर्स के स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव ने एक इंटरव्यू में इस बात का दावा किया है कि यूएई की पिचें उनके अनुकूल होंगी और वह अच्छा कर सकते हैं।

मैंने कुछ गेंदों पर किया है काम

कुलदीप यादव

शाहरुख खान की मालिकाना हक वाली कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने पिछले सीजन में बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया था। लेकिन अब इस सीजन में यूएई की पिचों को लेकर काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव ने आईपीएल शुरु होने से पहले आईएनएस से बात करते हुए कहा,

“मैंने कुछ गेंदों पर काम किया है खासकर टी20 फॉर्मेट के लिए। आईपीएल में आपको यह देखने को मिलेगा। यह परिस्थियां मुझे भाती हैं। यहां काफी गर्मी है। जब मैं घर पर पर था तब भी ऐसा ही था, गर्मी और उमस। इसलिए मैं ज्यादा गर्मी महसूस नहीं करता। इस लिहाज से मैं काफी खुश हूं, अगर आप विकेट की बात करें तो मैं खुश हूं क्योंकि यहां स्पिनरों की मददगार विकेट हैं। इसलिए मुझे काफी फायदा होगा।”

आईपीएल शुरू होने से पहले कुलदीप यादव ने दिया बल्लेबाजों को चैलेंज, इस सीजन करेंगे फॉर्म में वापसी 1

हर समय होती है प्लानिंग की जरुरत

आईपीएल के 13वें सीजन के सभी 60 मैचों का आयोजन यूएई के अबु धाबी, दुबई व शारजाह के मैदानों पर खेले जाएंगे। इस सीजन में इस स्पिन गेंदबाज के लिए पिच पर काफी मदद होगी। जैसे-जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ेगा, वैसे-वैसे पिचों पर दरार बढ़ती जाएंगी और गेंद फंसकर आएगी।अब आगे कुलदीप ने कहा,

“आपको हर समय प्लान करने की जरूरत होती है। यह अनुभव काफी जरूरी है। साथ ही, आपको हमेशा कुछ करने का समय मिलता है। आपको जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। अगर आप जल्दबाजी करते हो तो गलती होने की संभावना है। क्रिकेट ऐसा खेल है जहां आप हर समय अच्छा नहीं कर सकते। आपको असफलता स्वीकार करनी होगी। इसके बाद ही आप अच्छे खिलाड़ी बन पाओगे।”

अनुभव से सीखूंगा मैं

कुलदीप यादव

पिछले आईपीएल सीजन में बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 9 मैचों में 71.50 के औसत से 4 विकेट झटके थे। इस निराशाजनक प्रदर्शन के चलते ही कप्तान दिनेश कार्तिक ने खिलाड़ी को ड्रॉप कर दिया था।

“अनुभव ऐसी चीज है जिससे मैं सीखूंगा। मेरे साथ पिछले आईपीएल में जो हुआ वो सभी के साथ होता है। संघर्ष खेल का हिस्सा है। इस तरह से हाइप नहीं करना चाहिए कि आपके प्रदर्शन पर इसका असर पड़े, लोग बात करें। खिलाड़ी का आंकलन उस हिसाब से नहीं करना चाहिए। आप नहीं जानते हैं कि कितनी मेहनत लगती है। यह कई बार काम करता है और कई बार नहीं।”