कुलदीप यादव
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारत और इंग्लैंड क्रिकेट टीम के बीच खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारत को 227 रनों से एक करारी हार का सामना करना पड़ा। इस मैच के लिए चुनी गई प्लेइंग इलेवन में कुलदीप यादव का नाम ना देखकर हर किसी को हैरानी हुई।

यदि मौजूदा टेस्ट स्क्वाड  में आप गौर करें, तो रविचंद्रन अश्विन के बाद कुलदीप यादव ही वह स्पिन गेंदबाज हैं, जिनके पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का सबसे अधिक अनुभव है। कुलदीप के प्लेइंग इलेवन में ना चुने जाने पर टीम चयन पर कई दिग्गज खिलाड़ियों ने सवाल खड़े किए।

उम्मीद जताई जा रही है कि चेन्नई में अब अगले टेस्ट में कुलदीप को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जाएगा। मगर आइए इस आर्टिकल में हम आपको उन 3 कारणों के बारे में बताते हैं, जिसके चलते कुलदीप यादव को टेस्ट टीम में जरुर शामिल किया जाना चाहिए।

   कुलदीप यादव को इन 3 कारणों से मिलना चाहिए मौका

1- शाहबाज नदीम का निराशाजनक प्रदर्शन

कुलदीप यादव

के बीच खेले गए पहले टेस्ट मैच के दौरान सभी उस वक्त हैरान रह गए थे, जब भारत की प्लेइंग इलेवन में चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव का नाम नहीं था। जब अक्षर पटेल रूल्ड आउट हुए थे, तो हर किसी को यही लगा था कि अब कुलदीप यादव का इंतजार खत्म होगा और उन्हें खेलने का मौका दिया जाएगा।

लेकिन टीम मैनेजमेंट ने नेट बॉलर के रूप में टीम में शामिल शाहबाज नदीम को अक्षर पटेल की जगह ना केवल स्क्वाड बल्कि पहले मैच की प्लेइंग इलेवन में भी शामिल किया।

शाहबाज ने 59 ओवर गेंदबाजी की, जिसमें उन्होंने 58.25 के औसत से 4 विकेट हासिल किए। इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने तो नदीम को निशाने पर लिया और उनकी अनुभवहीन गेंदबाजी की पूरा फायदा उठाते हुए आक्रामक बल्लेबाजी की। अब ऐसे में टीम मैनेजमेंट को कुलदीप याद को नदीम की जगह प्लेइंग इलेवन में शामिल करना चाहिए।

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse