kuldeep yadav

IPL 2021: दिग्गज चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव बुरे फॉर्म से गुजर रहे हैं। टी20 विश्व कप टीम में कुलदीप को जगह नहीं दी गई है। विश्व कप से पहले आईपीएल 2021 के दूसरे फेज का आरंभ यूएई में होने जा रहा है। आईपीएल खेलने के लिए कुलदीप यादव तैयारी में जुटे हैं बावजूद इसके यादव का आत्मविश्वास हिला हुआ है। केकेआर के मुख्य स्पिनर रह चुके कुलदीप यादव का मैच से पहले ही दर्द छलका है।

बुरे फॉर्म से गुजर रहे हैं कुलदीप

chainaman

कभी टीम इंडिया में कुलचा ( कुलदीप-चहल) की जोड़ी काफी फेमस हुआ करती थी। टीम में कुलदीप सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी हुआ करते थे। लेकिन बुरे फॉर्म की वजह से आईपीएल फ्रैंचाइजी की प्लेइंग इलेवन में भी जगह नहीं बना पा रहे हैं। पूर्व भारतीय ओपनर आकाश चोपड़ा के साथ बातचीत के दौरान कुलदीप यादव ने कहा, ‘कई बार आपको लगता है कि आप खेलने के हकदार हैं, टीम के लिए मैच जीत सकते हैं, लेकिन आप यह नहीं जानते कि आपको खेलने का मौका क्यों नहीं मिल रहा।’

आईपीएल में बाहर बैठाने पर नहीं होती है बात

kuldeep yadav

कुलदीप यादव ने आकाश चोपड़ा से आगे कहा,

‘टीम इंडिया में जब आपको नहीं चुना जाता है तो आपसे बातचीत की जाती है। आईपीएल में ऐसा नहीं होता है। मुझे याद है कि आईपीएल से पहले मैंने फ्रैंचाइजी से बात की थी, लेकिन टूर्नामेंट शुरू होने के बाद किसी ने मुझे कोई कारण नहीं बताया। मैं थोड़ा हैरान था।’

केकेआर को कुलदीप पर नहीं है भरोसा

"केकेआर को मेरी जरूरत नहीं है, उन्हें मुझ पर विश्वास नहीं रहा, उनके पास कई विकल्प हैं" छलका कुलदीप यादव का दर्द 1

कुलदीप यादव ने कहा,

‘मुझे लगा कि उन्हें भरोसा नहीं है। जैसे उन्हें मेरे स्किल पर विश्वास नहीं है। जब टीम के पास ढेर सारे विकल्प हों तो ऐसा होता है। केकेआर के पास अब स्पिन बोलिंग के कई विकल्प हैं। कई बार आपको यह पता ही नहीं होता कि आप खेल भी रहे हैं या नहीं। या फिर टीम आपसे क्या चाहती है।’

बुरे फॉर्म से ऊबरते हुए कमबैक करने के सवाल पर कुलदीप ने कहा,

‘जब आप रेगुलर खेलते हैं तब इतना दबाव नहीं होता प्रदर्शन का आपको पता होता है कि अगर आपका 1 मैच खराब गया तो अगला मैच है 2 दिन बाद। लेकिन, जब आप टीम से बाहर होते हैं और खेलते हैं तब प्रदर्शन नहीं करते तो फिर बाहर होते हैं तब बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है और आप सोचते हैं कि आपके लिए यहां से हर मैच महत्वपूर्ण है।’

One reply on ““केकेआर को मेरी जरूरत नहीं है, उन्हें मुझ पर विश्वास नहीं रहा, उनके पास कई विकल्प हैं” छलका कुलदीप यादव का दर्द”

Comments are closed.