अपनी परीक्षा को छोड़ दिल्ली के बल्लेबाज कुनाल चंडेला खेल रहे हैं सेमी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत के इस युवा खिलाड़ी ने रणजी के लिए छोड़ा अपना सेमेस्टर एक्जाम, बर्बाद हुई पुरे साल की मेहनत 

भारत के इस युवा खिलाड़ी ने रणजी के लिए छोड़ा अपना सेमेस्टर एक्जाम, बर्बाद हुई पुरे साल की मेहनत

भारत के इस युवा खिलाड़ी ने रणजी के लिए छोड़ा अपना सेमेस्टर एक्जाम, बर्बाद हुई पुरे साल की मेहनत 1इन दिनों रणजी ट्रॉफी का ये सीजन अपने अंतिम चरण में हैं जहां पर सेमीफाइनल की जंग में चार टीमों के बीच खिताबी मुकाबलें को लेकर जोर-अजमाईश देखी जा रही है। इसमें पहला सेमीफाइनल मैच जहां दिल्ली और बंगाल के बीच खेला जा रहा है वहीं दूसरा सेमीफाइनल मैच विदर्भ और कर्नाटक के बीच खेला जा रहा है। दिल्ली की रणजी टीम ने एक बार फिर से सेमीफाइनल मैच में एन्ट्री की। दिल्ली की टीम ने पिछले तीन मैचों से एक युवा बल्लेबाज कुनाल चंडेला को मौका दिया है।

 

कुनाल चंडेला ने रणजी ट्रॉफी में किया शानदार आगाज

युवा बल्लेबाज कुनाल चंडेला को दिल्ली की टीम ने दो मैचों के पहले मौका दिया जिसके बाद इस बल्लेबाज ने मिले मौके को जमकर भुनाया। कुनाल चंडेला ने अंतिम लीग मैच में हैदराबाद के खिलाफ अपने पहले ही मैच में शानदार बल्लेबाजी करते हुए पचासा जड़ा। इसके बाद कुनाल चंडेला ने रणजी ट्रॉफी के इस सीजन के नॉक आउट मैच में मध्यप्रदेश के खिलाफ खेले गए क्वार्टर फाइनल मैच में दोनों ही पारियों में बेहतरीन पचासे जड़े। कुनाल ने लगातार तीन पचासे तीन पारियों में ही पूरे कर लिए।

भारत के इस युवा खिलाड़ी ने रणजी के लिए छोड़ा अपना सेमेस्टर एक्जाम, बर्बाद हुई पुरे साल की मेहनत 2

सेमीफाइनल मुकाबलें में जड़ा बेहतरीन शतक

कुनाल चंडेला ने अपनी प्रतिभा का नमूना इन पहली तीन पारियों में तो दे दिया लेकिन अब कुनाल से एक सैकड़े की उम्मीद थी। कुनाल चंडेला ने यहां निराश नहीं किया और बंगाल के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में जबरदस्त बल्लेबाजी की और अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट का पहला शतक लगाया। कुनाल चंडेला ने सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरते हुए गौतम गंभीर पहले विकेट के लिए 232 रनों की बेहतरीन साझेदारी की। खुद कुनाल ने 113 रनों की पारी खेली।

भारत के इस युवा खिलाड़ी ने रणजी के लिए छोड़ा अपना सेमेस्टर एक्जाम, बर्बाद हुई पुरे साल की मेहनत 3

सेमीफाइनल मैच के कारण दिया परीक्षा का त्याग

कुनाल बेहतरीन खेल का प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन इन सबके बीच कुनाल चंडेला को सेमीफाइनल मैच के कारण अपना सेमेस्टर एग्जाम का त्याग करना पड़ा। कुनाल इस समय आईटी से बीएससी कर रहे हैं। कुनाल ने अपनी परीक्षा को लेकर कहा कि 20 तारीख को मेरी परीक्षा है। मैंने इसको छोड़ दिया है। मुझे पढ़ाई करने में और इसके व्याख्यान में भाग लेने के लिए समय निकालना पड़ता है।

भारत के इस युवा खिलाड़ी ने रणजी के लिए छोड़ा अपना सेमेस्टर एक्जाम, बर्बाद हुई पुरे साल की मेहनत 4

यूनिवर्सिटी क्रिकेट खेलने से होता है बड़ा फायदा

इसके साथ ही कुनाल चंडेला ने आगे कहा कि “मुझे यूनिवर्सिटी के क्रिकेट से बड़ा फायदा हुआ है। मैंने सुना है कि दिल्ली के कई दिग्गज खिलाड़ी यूनिवर्सिटी क्रिकेट खेल कर ही आए हैं। दिल्ली की रणजी टीम में मेरा चयन भी यूनिवर्सिटी क्रिकेट में विज्जी ट्रॉफी में एक के बाद एक ट्रिपल सेंचुरी के कारण मिला है। आपको विज्जी ट्रॉफी में बहुत कुछ सीखने को मिलता है।”

Related posts

Leave a Reply