kxip-vs-kkr-top-five-reasons-for-punjab-defeat

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

KXIP vs KKR: पजांब की हार के प्रमुख पांच कारण 

KXIP vs KKR: पजांब की हार के प्रमुख पांच कारण

क्रिकेट डेस्क। रॉबिन उथप्पा (53) और गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) ने आईपीएल-9 के 13वें मैच में मंगलवार को किंग्स इलेवन पंजाब को 6 विकेट से हरा दिया। केकेआर की चार मैचों में यह तीसरी जीत है जबकि पंजाब की इतने ही मैचों में तीसरी हार। केकेआर के कप्तान गौतम गंभीर ने टॉस जीतकर पंजाब को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। पंजाब ने 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 138 रन बनाए। जवाब में केकेआर ने 18.1 ओवर में चार विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

आइए नजर डालते हैं पंजाब की हार के कारणों पर-

पंजाब की कमजोर बल्लेबाजी
पंजाब की ओर से आज बेहद की घटिया बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। अगर शॉन मार्श को छोड़ दिया जाए तो कोई भी बल्लेबाज अपना प्रभावन नहीं दिखा सका। बल्लेबाजी किस स्तर की रही इस बात का अंदाजा आप इसी से लगा सकते है कि 7 बल्लेबाज दहाई का आकड़ा भी नहीं छू सके। मुरली विजय के 26, शॉन मार्श के 56 रन को कुल स्कोर से निकाल दिया जाए तो बाकी पूरी टीम ने 56 रन ही बना सकी। इस कारण से टीम 138 का लक्ष्य ही कोलकाता के सामने रख सकी। इतने कम स्कोर पर कोलकाता को हराना लगभग नामुमकिन है।

डेविड मिलर का फ्लॉप शो जारी

पंजाब की टीम का मध्यमक्रम इस समय बहुत ही कमजोर नजर आ रहा है और इसका प्रमुख कारण है डेविड मिलर का लगातार फ्लॉप होना। अगर हम उनकी आईपीएल में पिछली पांच पारियों पर नजर डाले तो उन्‍होंने 11, 15, 9, 7, 6 रन की पारियां खेली है। उनका लगातार रन न बनाना पंजाब के लिए मुसीबत बन गया है। आज भी वह मात्र 6 रन बनाकर आउट हो गए जिससे टीम और दवाब में आ गई और छोटे से लक्ष्‍य तक सिमट गई।

पंजाब की गेंदबाजी भी काफी कमजोर
पंजाब के बल्लेबाज तो पहले ही फ्लॉप हो चुके थे इसके बाद गेंदबाजों भी उम्‍मीदों पर खरे नहीं उतर सके। पंजाब के प्रमुख गेंदबाज संदीप शर्मा और एबॉट दोनों ही बहुत महंगे साबित हुए। संदीप शर्मा ने अपने दो ओवर में 21 रन लुटाए वहीं एबॉट ने 3 ओवर में 32 रन दिए। गौतम गंभीर और उथप्‍पा को क्रीज पर शॉट खेलने का पूरा मैका मिला और पंजाब के हाथ से मैच निकल गया। हालांकि साहू ने अच्छी गेंदबाजी की और 4 ओवर में 18 रन देकर दो विकेट हासिल किए लेकिन जबतक बहुत देर हो चुकी थी।

क्षेत्ररक्षण में भी दिखी कमजोरी
पंजाब अपने 138 रन के लक्ष्‍य को बचाने के लिए मैदान में उतरा था लेकिन फील्डरो में उत्साह की कमी साफ देखी गई। कई ऐसे मौके थे जब वो अलग प्रयास कर शॉट को कैच में बदल सकते थे लेकिन उन्होंने इसकी कोशिश तक नहीं की। इसके बाद कोलकाता के लिए इस मैच को अपने पक्ष में करना और आसान हो गया।

टॉस हारना पंजाब को पड़ा भारी

पंजाब की टीम को आज टॉस हारना काफी भारी पड़ गया। कोलकाता ने टॉस जीतकर पहले पंजाब को बल्लेबाजी के लिए बुलाया और शुरुआती झटकों के बाद पंजाब की टीम खुद को संभाल नहीं सकी और रनगति को भी बड़ाने में नाकाम रही। इसका लाभ कोलकाता ने उठाया उन्होंने पंजाब को 138 रन पर ही रो‍क दिया और आसानी से लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल कर ली।

Related posts