दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच ने बताया, कैसे खुद को बेहतर कर सकते हैं ऋषभ पन्त

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच ने बताया, कैसे खुद को बेहतर कर सकते हैं ऋषभ पन्त 

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच ने बताया, कैसे खुद को बेहतर कर सकते हैं ऋषभ पन्त

भारतीय टीम के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पन्त ने टेस्ट मैचों में अच्छा खेल दिखाया है लेकिन सीमितओवरों के खिलाफ उन्होंने उनकी बल्लेबाजी कुछ खास नहीं रही है। वनडे में उनका बल्लेबाजी औसत सिर्फ 22.90 का है, वहीं टी-20 इंटरनेशनल में उन्होंने 21.57 की औसत से रन बनाये हैं। यही वजह है कि उन्हें लगातार आलोचनाओं का सामने करना पड़ता है।

सीनियर से सलाह लें

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच ने बताया, कैसे खुद को बेहतर कर सकते हैं ऋषभ पन्त 1

ऋषभ पंत इस समय भारतीय टीम में सबसे युवा खिलाड़ियों में शामिल हैं। टीम के पास महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिग्गज और बल्लेबाज कोच लांस क्लूजनर का मानना है कि पन्त को उनसे सलाह लेनी चाहिए। उन्होंने कहा

“एमएस धोनी के करियर के अंत में ऋषभ जैसी प्रतिभा का होना अद्भुत है। भारतीय दृष्टिकोण से, उन्हें कोशिश करनी चाहिए और अधिक योगदान देना चाहिए। उनके पास कुछ बेहतरीन कोच और खिलाड़ी हैं, इसलिए उनकी सलाह लें लेकिन साथ ही साथ अपनी प्राकृतिक के अनुरूप खेले।”

समय देने की जरूरत

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच ने बताया, कैसे खुद को बेहतर कर सकते हैं ऋषभ पन्त 2

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज कोच लांस क्लूजनर का मानना है कि ऋषभ पन्त को अभी खुद को समय देने की जरूरत है। भारत के खिलाफ सीरीज से पहले पीटीआई से बात करते हुए उन्होंने कहा

“यह मेरे लिए कठिन होगा लेकिन इस तरह की अभूतपूर्व प्रतिभा के साथ, व्यक्ति हमेशा खुद से थोड़ा आगे निकल जाता है। उन्हें खुद को टीम में जगह बनाने के लिए समय देने की जरूरत है और वह थोड़ा समय उसे अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए देगा।”

दूसरे की गलतियों से सीखे

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच ने बताया, कैसे खुद को बेहतर कर सकते हैं ऋषभ पन्त 3

लांस क्लूजनर ने खिलाड़ियों को दूसरे से गलतियों से सीखने की जरूरत है। उनका मानना है कि खिलाड़ी खुद की गलतियों से ज्यादा दूसरों की गलतियों से सीखते हैं। क्लूजनर ने कहा

“अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आपको आपकी गलतियों को समझने के बजाय दूसरों की गलतियों से सीखना पड़ता है। आप अपनी गलतियों से सीख सकते हैं, लेकिन उस प्रक्रिया का उपयोग करके इसे महसूस करने, सही करने और एक बेहतर खिलाड़ी बनने में बहुत अधिक समय लगेगा। यदि आप उन गलतियों को देखते हैं जो अन्य लोग कर रहे हैं, तो आप जल्दी से सीखेंगे और तेजी से सुधार करेंगे।”

Related posts