धोनी को सन्यास लेने के लिए उकसाना सही नहीं: नयन मोंगिया

vinay mani tripathi / 15 October 2015

टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी इंदौर वनडे से पहले तक आलोचकों के निशाने पर थे। लोग यहां तक कहने लगे थे कि वो मिडास टच खो चुके हैं। पूर्व भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज नयन मोंगिया ने उन्हें दुनिया का सबसे बेहतरीन विकेटकीपर करार दिया है।

मोंगिया ने साथ ही कहा कि “धौनी को अगले साल टी-20 वर्ल्ड कप तक टीम इंडिया का कप्तान बने रहना चाहिए। बतौर बल्लेबाज और कप्तान खराब फॉर्म के कारण आलोचना झेल रहे धोनी ने अपने आलोचकों को करारा जवाब देते हुए इंदौर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे में 92 रन की नॉटआउट पारी खेली।”

मोंगिया ने कहा, “मेरा हमेशा से मानना रहा है कि कप्तान तभी अच्छा होगा, जब टीम अच्छी होगी। अगर टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही है तो आप कप्तान को कसूरवार ठहराना शुरू कर देते हैं। वह बेहतरीन खिलाड़ी है और उसकी 50 से अधिक की औसत इसकी गवाही देती है।”

उन्होंने कहा, “बतौर बल्लेबाज वह शानदार रहा है और कई साल से अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। मुझे समझ में नहीं आता कि उसकी आलोचना क्यों हो रही है।”

पूर्व विकेटकीपर ने कहा, “एडम गिलक्रिस्ट के संन्यास लेने के बाद हमारे पास धौनी है जो बेहतरीन है। दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डिकॉक और एबी डिविलियर्स (टी20 में) भी बेहतरीन हैं लेकिन वर्ल्ड क्रिकेट में इस समय धौनी सबसे सुरक्षित विकेटकीपर हैं।” 

मोंगिया ने कहा, “यह कहना मुश्किल है कि अभी धौनी के अंदर कितना क्रिकेट बाकी है। वह खुद ही तय कर सकता है कि कब तक खेलेगा। मुझे लगता है कि कम से कम टी-20 वर्ल्ड कप तक तो वह खेल ही सकता है। हमें उसे संन्यास का फैसला खुद करने का सम्मान देना चाहिए।”

धौनी के विकल्प के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि रिधिमान साहा और नमन ओझा अच्छे विकल्प हैं लेकिन वह रॉबिन उथप्पा से ज्यादा प्रभावित हैं। उन्होंने कहा, “हमें वनडे और टी-20 में धौनी का विकल्प खोजना होगा। टेस्ट मैचों के लिए रिधिमान साहा है। नमन ओझा को मौका मिला और उसने प्रभावित किया। भारत-ए के लिए भी वे अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। रॉबिन उथप्पा जिम्बाब्वे में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके वरना वह टी-20 और वनडे में बेस्ट ऑप्शन हैं। मैं उसका कायल हूं।”

Related Topics