पाकिस्तान और इंग्लैंड की तरह अगर भारत भी करता अपनी टीम में ये 3 बदलाव तो विश्व कप जीतना था तय 1

आईसीसी के नियमों के मुताबिक, 23 मई तक कोई भी टीम अपनी विश्व कप टीम में बदलाव कर सकती है. इसी नियम का फायदा उठाकर पाकिस्तान और इंग्लैंड जैसी टीमों ने अपनी टीम में बदलाव किये हैं. पाकिस्तान ने जहां फहीम अशरफ, जुनैद खान और आबिद अली को बाहर कर मोहम्मद आमिर, वहाब रियाज और आसिफ अली को शामिल किया गया है. वहीं इंग्लैंड ने डेविड विली को टीम से बाहर कर जोफ्रा आर्चर को शामिल कर लिया है.

भारत को भी करने चाहिए थे तीन बदलाव

पाकिस्तान और इंग्लैंड की तरह अगर भारत भी करता अपनी टीम में ये 3 बदलाव तो विश्व कप जीतना था तय 2

आईसीसी के इस नियम का फायदा उठाकर भारतीय टीम को भी तीन बड़े बदलाव करने चाहिए थे, लेकीन अब भारत की चुनी गई 15 सदस्ययी टीम विश्व कप के लिए रवाना हो चुकी है. जिसका मतलब साफ़ है, कि भारतीय चयनकर्ता आईसीसी के इस नियम का फायदा नहीं उठाना चाहते हैं और इसी 15 सदस्ययी टीम के साथ विश्व कप 2019 में खेलना चाहते हैं.

टीम में इन तीन बदलाव की थी जरुरत

पाकिस्तान और इंग्लैंड की तरह अगर भारत भी करता अपनी टीम में ये 3 बदलाव तो विश्व कप जीतना था तय 3

भारतीय टीम में तीन बदलाव करने की जरुरत थी. भारत की इस टीम में तूफानी बल्लेबाजी के लिए ऋषभ पंत, नंबर-4 के स्पेशलिस्ट खिलाड़ी के तौर पर अंबाती रायडू और चौथे तेज गेंदबाज विकल्प के तौर पर नवदीप सैनी को शामिल करने की जरुरत थी, लेकिन चयनकर्ताओं ने ऐसा नहीं किया है.

इन तीन खिलाड़ियों की जगह चुना जा सकता था ऋषभ, रायडू और सैनी को

पाकिस्तान और इंग्लैंड की तरह अगर भारत भी करता अपनी टीम में ये 3 बदलाव तो विश्व कप जीतना था तय 4

 

आपकों बता दें, कि दिनेश कार्तिक का आईपीएल में फॉर्म कुछ ख़ास नहीं रहा था, इसलिए उनकी जगह ऋषभ पंत को शामिल किया जा सकता था. वह बैक-अप विकेटकीपर के ज्यादा अच्छे विकल्प साबित हो सकते थे.

वहीं भारत के पास इस विश्व कप के लिए नंबर-4 का स्पेशलिस्ट बल्लेबाज नहीं है, इसलिए इस कमी को दूर करने के लिए विजय शंकर की जगह अंबाती रायडू को शामिल कर लेना चाहिए था. विजय शंकर आजतक भारत के लिए वनडे क्रिकेट में नंबर-4 पर नहीं खेले हैं. वहीं उनका आईपीएल फॉर्म भी बहुत खराब रहा था.

भारत की विश्व कप टीम में सिर्फ तीन तेज गेंदबाज है, इसलिए चयनकर्ताओं को लम्बे विश्व कप को देखते हुए एक और तेज गेंदबाज नवदीप सैनी के रूप में लेना चाहिए था. रविन्द्र जडेजा को टीम से बाहर किया जा सकता है, क्योंकि टीम के पास पहले से ही कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के रूप में दो शानदार स्पिनर है.

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul