अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा बढ़ाने के सख्त खिलाफ़ है लोढ़ा समिति : सूत्र | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा बढ़ाने के सख्त खिलाफ़ है लोढ़ा समिति : सूत्र 

अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा बढ़ाने के सख्त खिलाफ़ है लोढ़ा समिति : सूत्र

बीसीसीआई की कार्यवाहक प्रशासकों की समिति (सीओए) को राज्य क्रिकेट संघों द्वारा लोढ़ा समिति की सिफारिशों पर अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा बढ़ाकर 27 मार्च तक करने का अनुरोध पत्र मिल सकता है, लेकिन लोढ़ा पैनल का मानना कि समयसीमा बढाने का कोई कारण दिखाई नहीं देता हैं. OMG! लाजवाब फॉर्म में चल रहे विराट कोहली के लगातार फ्लॉप होने के बाद कोहली के लिए ये क्या बोल गए गांगुली

पैनल के नजदीकी सूत्र ने बताया कि, “पैनल ने यह साफ़ किया है, कि अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा 1 मार्च थी और इससे 27 मार्च तक बढाने को कोई जरुरत दिखाई नहीं देती हैं. पैनल का यह भी कहना है, कि समयसीमा बढ़ाने का कोई कारण भी दिखाई नहीं देता हैं.”

“हाँ, पैनल ने समयसीमा बढाने की याचिका के बारे में सुना है, लेकिन इसे मानने का कोई कारण नहीं हैं. तकनीकी तौर पर राज्यों संघो को अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा 1 मार्च थी.” OMG! टी-20 विश्वकप जीत चुके इस भारतीय खिलाड़ी ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड को ही दे डाली हाईकोर्ट में चुनौती

बीसीसीआई की कार्यवाहक समिति सीओए को लगातार अलग-अलग संघो से याचिका मिल रही है, कि  लोढ़ा समिति की सिफ़ारिश के अंतर्गत अनुपालन रिपार्ट सौंपने की अंतिम समयसीमा को 27 मार्च का बढ़ाया जाये.

सीओए ने 23 फ़रवरी को सभी संघो की लिखित में पत्र लिखकर कहा था, कि लोढ़ा पैनल की सिफ़ारिश के अंतर्गत 1 मार्च तक अनुपालन रिपार्ट सौंपे. विजय हजारे ट्रॉफी के लिए सीनियर बल्लेबाज अनुस्तुप की बंगाल टीम में वापसी

राज्य संघ के एक अधिकारी ने कहा, “हाँ, एक पत्र सीओए को भेजा गया है, क्योंकि हमें ऐसा लगता है, कि सीओए को 27 मार्च तक इंतजार करना चाहिए, क्योंकि बीसीसीआई संयुक्त सचिव अमिताभ की याचिका सुप्रीमकोर्ट में लंबित है. 9 या 18 वर्ष के संचित कार्यकाल के संबंध में कुछ स्पष्टता की अभी भी जरूरत है.”

अमिताभ चौधरी ने सुप्रीमकोर्ट में एक याचिका दायर की, है जिसमें उन्होंने सीओए के दायरे के बारे में स्पष्टीकरण मांगा है.

सीओए के एक करीबी सूत्र ने बताया,  “राज्य संघ इंतजार कर रहे हैं सुप्रीमकोर्ट में आगे यह मामला कैसे चलता है. बीसीसीआई के कुछ सीनियर पदाधिकारियों के बाहर होने के बावजूद अब भी प्रतिरोध मौजूद है. अभी तक लोढ़ा पैनल की सिफारिशों को सिर्फ विदर्भ और त्रिपुरा ने लागू किया है.” रोहित शर्मा की पत्नी रितिका सजदेह फिर करना चाहती हैं शादी, शेयर किया हमसफर के साथ तस्वीर

त्रिपुरा क्रिकेट संघ (टीसीए) और विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) पिछले वर्ष सितंबर में लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने वाले बीसीसीआई के पहले पूर्ण राज्य संघ बने थे.

Related posts