क्या है बिना विकेट कीपर के फील्डिंग करने के पीछे कारण और क्यों किया जा रहा इसे धडल्ले से प्रयोग?????

SAGAR MHATRE / 17 June 2015

क्रिकेट नियम एक कमाल की चीज है और एलबीडबल्यू जैसे नियम भी अगर गेंद लेग स्टंप के बाहर गिरती है तो गेंद कहीं भी लगे उसे एलबीडबल्यू नहीं दिया जाता. और एक बार डबल्यू जी ग्रेस ने अपनी दाढी में गेंद छुपाई थी और बल्लेबाज को रन आऊट किया था. और ट्रवर चैपल की अंडर आर्म गेंद हो.

और ऐसा ही वाकया अभी इंग्लैंड के काउंटी मैच में हुआ जब व्रूसटशायर के कप्तान ने विकेटकीपर ही हटा दिया.

जब मोईन अली गेंदबाजी कर रहे थे तब कप्तान ने विकेटकीपर को हटाकर स्लीप के पीछे लगा दिया.

और अंपायर ने ऐसा करने से नहीं रोका.

व्यूसटशायर के डायरेक्टर ने भी कहा की अगर आप जीतना चाहते हो तो ऐसी रणनीती बनानी पडती है जैसे धोनी एक बार स्पीनर को काफी पिछे खडे हुए थे.

नोर्थटीशायर के कप्तान ने कहा की में भी ये देखकर अचंबित रह गया और ऐसा क्रिकेट में पहली बार हुआ.

रन बचाने के लिए ये शानदार रणनीती है, और विकेट लेने से ज्यादा रन बचाना उस समय महत्वपूर्ण था.

1972 में काउंटी में ऐसा हुआ था जब विकेट कीपर को बाउंड्री पर खडा किया था जब दूसरी टीम को आखिरी गेंद पर 3 रन चाहिए थे.

1979 में इंग्लैंड ने भी ऐसा वेस्टइंडीज के खिलाफ किया था जब वेस्टइंडीज को आखिरी गेंद पर तीन रन चाहिए थे और इंग्लैंड ने ये मैच जीता था.

1988 में काउंटी में एक टीम ने 200 रन बनाए थे जो तेजी से नहीं बन सकते थे तो उनके कप्तान ने विकेटकीपर को हटाकर गेंदबाज को वाईड डालने के लिए जिससे मैच में रोमांच पैदा हो लेकिन उन्होंने ये मैच भी 12 रन से जीता.

Related Topics