महेंद्र सिंह धोनी को क्यों नहीं मिला सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

15 सालों के करियर में पहली बार इन 3 कारणों से महेंद्र सिंह धोनी को किया गया सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर 

15 सालों के करियर में पहली बार इन 3 कारणों से महेंद्र सिंह धोनी को किया गया सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

अब बीसीसीआई ने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की लिस्ट जारी कर दी है. जिसमें एक बहुत बड़ा चौकाने वाला फैसला किया गया है. पूर्व भारतीय दिग्गज कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को अब कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से ही बाहर कर दिया गया है. जिसे बीसीसीआई के द्वारा बहुत बड़ा फैसला माना जा रहा है.

महेंद्र सिंह धोनी को पिछली बार ग्रेड ए में रखा गया था. लेकिन अब वो इस लिस्ट से बाहर हो गये हैं. जिसपर बहुत ज्यादा सवाल उठ रहा है. हालाँकि अब 3 तीन बड़े कारण भी साफ़ नजर आ रहे हैं की क्यों इस दिग्गज को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की बड़ी लिस्ट से इस तरह आसानी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया.

हम आपको उन 3 कारणों के बारें में बताने जा रहे हैं. जिसके कारण धोनी को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर का रास्ता दिखाया गया है. बीसीसीआई के सूत्रों की माने तो कुछ रिपोर्ट्स भी दी जा रही है. जिसमें उसकी वजह भी बताई गयी है.

1.लंबे समय से चल रहे हैं टीम से बाहर

नदीम

 

विश्व कप के सेमीफ़ाइनल मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार के बाद महेंद्र सिंह धोनी भारतीय टीम का हिस्सा नहीं है. पहले कुछ सीरीज में उन्होंने खुद को अनुउपलब्ध रखा लेकिन उसके बाद मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने बताया की उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है.

धोनी के इस तरह से टीम के बाहर जाने पर हालाँकि प्रतिक्रिया नहीं आई. लेकिन अब उनके सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट के बाहर होने की एक वजह उनका लंबे समय से टीम से बाहर रखना है. ये कॉन्ट्रैक्ट अक्टूबर 2019 से सितंबर 2020 तक है. इस बीच धोनी बहुत मैच भारतीय टीम के लिए नहीं खेलते हुए दिखाई देंगे.

जिस तरह से धोनी ने पिछले कुछ समय से खुद को क्रिकेट से दूर किया है. उसके बाद से जल्द टीम में उनकी वापसी पर कुछ कहा नहीं जा सकता है. ये कारण भी उनका कॉन्ट्रैक्ट से बाहर होने का हो सकता है.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

Related posts