महमूदुल्लाह ने बताया, कहां हो गई उनकी टीम से चूक, जो हाथ से फिसला मैच | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

महमूदुल्लाह ने बताया, कहां हो गई उनकी टीम से चूक, जो हाथ से फिसला मैच 

महमूदुल्लाह ने बताया, कहां हो गई उनकी टीम से चूक, जो हाथ से फिसला मैच

भारत के खिलाफ महमूदुल्लाह की अगुवाई वाली बांग्लादेश टीम दुसरे टी 20 मैच में बल्लेबाजी के लिए अनुकूल विकेट पर,10.2 ओवर के बाद 1 विकेट पर 83 रन बना चुका था, उस वक्त एसा लग रहा था की बांग्लादेश आसानी से 180-190 रन बना लेगी लेकिन जैसे ही 11वें ओवर की तीसरी गेंद पर वाशिंगटन सुन्दर ने मोहम्मद नईम को मिडविकेट पर श्रेयस के हांथों कैच कराया.

उसके बाद बांग्लादेश के नियमित अन्तराल में विकेट गिरते रहें जिससे वह मात्र 20 ओवर में 153 रन बना पाई. भारत ने 154 रनों के लक्ष्य को 26गेंद रहते हाशिल कर लिया.

बांग्लादेश के कप्तान महमूदुल्लाह ने भारत के खिलाफ बांग्लादेश की एकतरफा हार पर अपने मध्कोयक्रम को जिम्मेदार ठहराया है, उन्होंने कहा उपरी क्रम के बल्लेबाजों ने टीम को अच्छी शुरुआत दी लेकिन मध्यक्रम ने उस ले को तोड़ दिया जीसके कारण हमें मैच में हार का सामना करना पड़ा.

हमने 30 से 40 रन कम बनाये

वह 180 से अधिक का विकेट था। पिच पर बल्लेबाजी करना बहुत आसान था,हमने जब सौम्य सरकार का विकेट खोया, तो हमरे बल्लेबाजों ने रनों की गति धीमी कर दी, हमने थोड़ा समय लिया और शायद हमें वही भरी पड़ा। हमें कम से कम 175 से अधिक रन बनाने चाहिए थे. हमने शुरुआत के अनुसार 30 से 40 रन कम बनाये

महमूदुल्लाह ने की युजवेंद्र चहल की प्रसंशा

सलामी बल्लेबाज लिटन दास और मोहम्मद नईम ने महज 7.2 ओवरों में 60 रन की साझेदारी की और ऐसा लग रहा था कि वे बोर्ड पर एक अच्छा टोटल लगा देंगे। लेकिन भारत ने युजवेंद्र चहल की बदौलत खेल में जबरजस्त वापसी की, जिन्होंने 13वें ओवर में मुशफिकुर रहीम और सौम्य सरकार को आउट कर बांग्लादेश को बैकफुट पर धकेल दिया ।

“इस तरह के विकेट पर 15-16 ओवर तक एक सेट बल्लेबाज होना बहुत जरूरी था। टीम में किसीको जिम्मेदारी लेकर करीब 16 वें ओवर तक बल्लेबाजी करनी चाहिए थी.

हमें 170 से 180 तक का टोटल खड़ा करना चाहिए थे

अगर आप भारत के बल्लेबाजी क्रम को देखें, तो रोहित ने अकेले ही अपनी टीम को जीत को जीत दिला दी। उन्होंने वास्तव में बहुत अच्छी बल्लेबाजी की। अगर ऐसी पारी हमारे शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों में से एक की होती है, तो शायद हमारे पास 170-180 रन बनाने का बेहतर मौका होता, उन्होंने कहा कि वह किसी एक बल्लेबाज को दोष नहीं देना चाहते हैं।

चहल के खिलाफ थी संभलकर खेलने की योजना

महमुदुल्लाह ने आगे कहा कि चहल के खिलाफ हमारी टीम की योजना कम जोखिम उठाकर खेल खेलना था, लेकिन शायद हमरे खिलाडिओं ने लेगस्पिनर के खिलाफ बल्लेबाजी करते समय चहल को ही उनके दिमाग में रखा.

महमूदुल्लाह ने बताया, कहां हो गई उनकी टीम से चूक, जो हाथ से फिसला मैच 4

मै ये नहीं कहूँगा की हमारें बल्चलेबाजों ने चहल का प्रेसर लिया. क्योंकि अगर मुशी (मुशफिकुर रहीम) जिस तरह से आउट हुए, वह रन बनानें के लिए उनके मजबूत शॉट्स में से एक है, इसलिए मैं उन्हें दोष नहीं देता, मैं किसी को दोष नहीं देता.

हमें सुधार करने के मौके मिलेंगे

उन्होंने कहा, “हमने पारी में 38 डॉट गेंदें खेलीं। शायद यह बुरा नहीं हैं लेकिन निश्चित रूप से आगे हमें सुधार करने के मौके मिलेंगे। हालांकि, मैंने बताया कि हमारे बल्लेबाजों को आज अधिक जिम्मेदारी लेनी थी … हमारा लक्ष्य अच्छा स्कोर हासिल करना था लेकिन हम ऐसा नहीं कर सके और यह हमारे बल्लेबाजों की विफलता है।

Related posts