भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने अब तक अपनी कप्तानी के काल में भारतीय टीम को जबरदस्त सफलता दिलायी है। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने विश्व क्रिकेट में अपनी एक अलग की छाप छोड़ी। जिस तरह से विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में आक्रमकता दिखायी उससे तो भारतीय क्रिकेट लगातार परवान चढ़ता गया।

विराट कोहली हैं भारत के तीसरे सबसे सफल टेस्ट कप्तान

विराट कोहली ने भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट की बात करे तो कप्तानी करते हुए कुछ खास सफलता दिलायी है। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने अब तक जो 33 टेस्ट मैच खेले हैं इसमें भारत ने 20 टेस्ट मैचों में जीत हासिल की है। विराट की कप्तानी में इस दौरान भारतीय टीम को केवल 4 टेस्ट मैचों में ही हार का सामना करना पड़ा। विराट कोहली इस तरह से भारत के तीसरे सबसे सफलतम कप्तान बन चुके हैं।

2014 में विराट कोहली ने संभाली टेस्ट कप्तानी

भारतीय क्रिकेट टीम के विराट कोहली 32वें टेस्ट कप्तान बने। कोहली ने कप्तानी की जिम्मेदारी को संभालने के बाद से तो अपार सफलता हासिल की। कोहली ने अपने टेस्ट करियर का डेब्यू साल 2011 में किया। इसके बाद से विराट कोहली ने अपनी बल्लेबाजी से ऐसा प्रभाव छोड़ा कि उन्हें महेन्द्र सिंह धोनी के टेस्ट कप्तानी से इस्तीफे के साथ ही साल 2014 में भारतीय टीम की कप्तानी की जिम्मेदारी दे दी गई।

विराट की कप्तानी में खेले 33 टेस्ट मैचों में नजर आए हैं बदलाव

विराट कोहली ने कप्तान बनते ही ऐसी जबरदस्त आक्रमकता दिखायी कि दुनियाभर की टीमें उनका लोहा मानने लगी। विराट कोहली अब तक 33 टेस्ट मैचों में कप्तानी कर चुके हैं लेकिन इन 33 टेस्ट मैचों में हर मैच में एक बदलाव के साथ ही नजर आयी है। वैसे आमतौर पर परिवर्तन या बदलाव तो संसार का नियम हैं लेकिन विराट कोहली के ये परिवर्तन भी उन्हें विदेशी जमीं पर सफलता नहीं दिला पा रहे हैं।

Virat Kohli (R) and wicketkeeper Parthiv

हर मैच में कोहली ने किया है कोई ना कोई बदलाव

भारतीय टीम में विराट कोहली की कप्तानी में बदलाव की बात करें तो इस दौरान भारतीय टीम के लिए 28 खिलाड़ियों ने भारतीय टीम में हिस्सा लिया। विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में खेले 33 टेस्ट मैच में हर मैच में कोई ना कोई बदलाव जरूर किया है। खिलाड़ियों की पोजिशन से लेकर खिलाड़ियों को टीम में खिलाने तक के बदलाव शुमार रहे।

बदलाव के बीच विदेश में है जीत का इंतजार

इस दौरान अश्विन 32 टेस्ट का हिस्सा रहे तो वहीं रहाणे 30, चेतेश्वर पुजारा 28, उमेश यादव 24, ईशांत शर्मा,19 और मोहम्मद शमी 18 मैचों में हिस्सा रहे। बल्लेबाजी पोजिशन की बात करे तो भारतीय टीम में नंबर 3,4 और 5 की पोजिशन पर इन 33 टेस्ट मैचों में 25 मौको पर चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ही नजर आए हैं लेकिन इसके बाद भी भारतीय टीम को विदेश में जीतने का इंतजार है।



  • SHARE

    Related Articles

    Matchpreview: IPL-11 : 2018 में कल अंतिम बार एक दुसरे के आमने-सामने होंगे चेन्नई...

    मुंबई, 26 मई; भारत में क्रिकेट का त्योहार मानी जाने वाली इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 11वां संस्करण 51 दिनों के बाद अपने अंत पर...

    ज्योतिष और राशिफल के अनुसार यह टीम बनेगी आईपीएल 2018 का फाइनल, भारी पड़...

    इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन का खिताबी मुकाबला रविवार को सनराईजर्स हैदराबाद और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा। मुंबई के वानखेड़े...

    वीडियोः टीम के फाइनल में पहुंचने पर साथी खिलाड़ी ने दिया राशिद खान को...

    राशिद खान ने दूसरे क्वालीफायर मैच में केकेआर को टूर्नामेंट से बाहर कर हैदराबाद को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। रविवार को...

    शाहरुख खान के ट्विट पर भावुक हुए क्रिस लिन, शाहरुख खान से ट्विट कर...

    केकेआर और सनराइजर्स के बीच कल शुक्रवार को आईपीएल 2018 का दूसरा क्वालीफायर मुकाबला खेला गया था. जिसे सनराइजर्स की टीम ने अपने शानदार...

    राशिद की आक्रामक बल्लेबाजी से हैरानी नहीं हुई : यूसुफ पठान

    कोलकाता, 26 मई; सनराइजर्स हैदराबाद के अनुभवी बल्लेबाज यूसुफ पठान ने कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के क्वालीफायर-2 में कोलकाता नाइट...