धोनी के साथ अर्द्धशतकीय पारी खेलने के बाद मनीष पाण्डेय ने कही ये बात 1

कल गुरुवार को भारतीय टीम ने श्रीलंका की टीम को 168 रन से हरा दिया जिसके साथ ही भारत ने पांच मैचों की वनडे सीरीज में 4-0 की अजेय बढ़त ले ली है.

भारत ने इस मैच में तीन बदलाव किये थे, जिसमे से एक बदलाव मध्यक्रम के बल्लेबाज मनीष पाण्डेय का भी था. मनीष ने इस मैच में भारतीय टीम के लिए 42 गेंद में 50 रन की एक शानदार पारी खेली और अपनी इस शानदार पारी व मैच जीतने के बाद मनीष ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बात की जिसमे उन्होंने भारतीय टीम में चल रही प्रतिस्पर्धा और अपनी बल्लेबाजी को लेकर खुलकर बात की.

सीमेंट की तरह पक्की करना चाहता हूं टीम में जगह 

धोनी के साथ अर्द्धशतकीय पारी खेलने के बाद मनीष पाण्डेय ने कही ये बात 2

पोस्ट मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस में मनीष पाण्डेय ने कहा “मैं एक मध्यक्रम का बल्लेबाज हूं और भारत के लिए मध्यक्रम में कई नंबर में खेल चुका हूं , मैंने नंबर 4, नंबर 6 सभी में बल्लेबाजी की है मगर मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता,  क्योंकि मै जानता हूं कि मुझे मध्यक्रम में कही पर भी बल्लेबाजी के लिए तैयार रहना होगा. इसलिए अगर मुझे मौके मिलते है तो मैं कुछ रन बनाकर अपनी जगह टीम में बिलकुल सीमेंट की तरह पक्की करना चाहता हूं.”

भारत को अपनी बल्लेबाजी से जीताना चाहता हूं मैच

पोस्ट मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस में मनीष पाण्डेय ने आगे कहा “यदि आप प्रदर्शन करते रहेंगे और आप बेहतर खेलेंगे, तो आप क्रम में ऊपर भी आ सकते हैं,  इसलिए मेरा लक्ष्य अपने बल्लेबाजी क्रम के नंबरों में नहीं है मैं बस अंत तक मैच में भारत के लिए बल्लेबाजी करना चाहता हूं और भारत को अपनी बल्लेबाजी से मैच जीताना चाहता हूं.”

परिस्थितयों से नहीं था अंजान 

धोनी के साथ अर्द्धशतकीय पारी खेलने के बाद मनीष पाण्डेय ने कही ये बात 3

मनीष पाण्डेय ने आगे कहा “जिस तरह से मैंने आज बल्लेबाजी की इंडिया-ए से खेलते हुए भी मैं इन्ही परिस्थितियों में बल्लेबाजी कर रहा था, इसलिए मेरे लिए वापस टीम में आने के बाद ये कुछ अलग परिस्थितया नहीं थी, मुझे सिर्फ गेंद देखना था और उसे अच्छे से खेलना था.”

रोहित-विराट की वजह से बना पाये 375 

धोनी के साथ अर्द्धशतकीय पारी खेलने के बाद मनीष पाण्डेय ने कही ये बात 4

मनीष पाण्डेय ने आगे रोहित-विराट को जीत का श्रेय देते हुए कहा “विराट कोहली और रोहित शर्मा की दूसरे विकेट के लिए हुई 219 रनों की साझेदारी ने हमें अच्छी शुरुआत दी हमारे लिए यह शुरुआत वास्तव में महत्वपूर्ण थी. हाँ, उसके बाद जरुर हमने कुछ विकेट गँवाए मगर फिर भी हम उन दोनों के शानदार शतक से आसानी से 375 के लक्ष्य तक पहुँच गये.

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul