जसप्रीत बुमराह की चोट पर भारत के पूर्व गेंदबाज मनोज प्रभाकर ने कही ये बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पूर्व भारतीय गेंदबाज ने बताया जसप्रीत बुमराह को वो तरीका जिससे हमेशा चोट से रह सकते हैं दूर 

पूर्व भारतीय गेंदबाज ने बताया जसप्रीत बुमराह को वो तरीका जिससे हमेशा चोट से रह सकते हैं दूर

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज शुरू होने से ठीक पहले बड़ा झटका लगा जिसमें उन्हें स्ट्रेस फ्रेक्चर की चोट की वजह से बाहर होना पड़ा है। जसप्रीत बुमराह के लिए ये चोट बड़ा झटका इसलिए है कि इसके ठीक होने में लंबा वक्त लग जाएगा।

जसप्रीत बुमराह को चोट से उबरने के बाद के प्लान पर मनोज प्रभाकर की सलाह

भारतीय टीम के युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को पहली बार उनके करियर में ये गंभीर चोट का सामना करना पड़ा है। गेंदबाजों के साथ हमेशा चोट साथ रहती है लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि वो इससे कैसे उबरते हैं।

पूर्व भारतीय गेंदबाज ने बताया जसप्रीत बुमराह को वो तरीका जिससे हमेशा चोट से रह सकते हैं दूर 1

वैसा ही अब जसप्रीत बुमराह के साथ होगा कि वो अपनी इस चोट से कैसे पार पाते हैं। लेकिन वहीं भारत के पूर्व तेज गेंदबाज मनोज प्रभाकर ने चोट से उबरने के बाद लंबे समय तक रहने के लिए बुमराह को सलाह दी है।

वापसी के बाद बुमराह को अपने रनअप में करना होगा सुधार

मनोज प्रभाकर ने कहा कि “उनका रनअप बहुत ही छोटा है, जिससे सारा भार उनकी पीठ के निचले हिस्से पर पड़ता है। एक गेंदबाज के रूप में आपको बैक अप की जरूरत होती है। जब आप एक भाला फेंक रहे हैं तब भी आप वितरण बिंदु निर्माण गति के लिए भागते हैं। वो नहीं चलता। बाद में(चोट के बाद) लिली, कपिल देव और इमरान खान जैसे सभी गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया”

पूर्व भारतीय गेंदबाज ने बताया जसप्रीत बुमराह को वो तरीका जिससे हमेशा चोट से रह सकते हैं दूर 2

मनोज प्रभाकर ने आगे कहा कि “आपकी पीठ हमेशा खुली चेस्ट वाली एक्शन से पीड़ित होती है। ये लंबे समय के लिए नहीं है। उन्हें बहुत सावधानी बरतनी होगी और थोड़ा-थोड़ा रनअप करना होगा। आप इस एक्शन से आराम से नहीं रह सकते हैं। वो ना तो राउंड आर्म है और ना ही साइन ऑन है। ये उन्हें तेजी से गेंदबाजी करने के लिए मजबूर करता है, अन्यथा वो हथौड़ा मार देगा। इससे पीठ पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ता है।

टी20 फॉर्मेट में चोट का हमेशा रहता है डर

मनोज प्रभाकर को लगता है कि “टी20 क्रिकेट में चोट लगने की संभावना ज्यादा रहती है। उन्होंने कहा ये इसलिए होता है कि आप चार ओवरों को एक-दो, दो ओवर के स्पेल में विभाजित कर रहे हैं। लंबे फॉर्मेट में, आप एक स्ट्रेच पर 6-7 ओवर फेंकते हैं और शरीर गर्म होता है। टी20 में ऐसा नहीं होता है। इसलिए आप हमेशा गर्मजोशी के साथ गेंदबाजी करते हैं।”

पूर्व भारतीय गेंदबाज ने बताया जसप्रीत बुमराह को वो तरीका जिससे हमेशा चोट से रह सकते हैं दूर 3

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।

Related posts