मनोज तिवारी ने रणजी ट्रॉफी में जड़ा करियर का पहला तिहरा शतक

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

हैदराबाद के खिलाफ मनोज तिवारी ने विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए जड़ा तिहरा शतक 

हैदराबाद के खिलाफ मनोज तिवारी ने विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए जड़ा तिहरा शतक

भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा रह चुके बंगाल के विस्फोटक बल्लेबाज मनोज तिवारी ने खेली जा रही रणजी ट्रॉफी में अपने फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर का पहला तिहरा शतक जड़ दिया है. तिहरा शतक लगाने का कारनामा मनोज तिवारी ने हैदराबाद के खिलाफ बंगाल क्रिकेट एकेडमी ग्राउंड पर किया है. इसी के साथ मनोज ने अपनी टीम को बेहद मजबूत स्थिति में पहुंचाते हुए जीत का प्रबल दावेदार बनाया है.

मनोज तिवारी ने जड़ा तिहरा शतक

मनोज तिवारी

टीम इंडिया से लंबे वक्त से बाहर चल रहे बंगाल के विस्फोटक बल्लेबाज मनोज तिवारी ने अपने फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर का पहला तिहरा शतक लगाया. ये विस्फोटक पारी मनोज ने हैदराबाद क्रिकेट टीम के खिलाफ बंगाल क्रिकेट एकेडमी ग्राउंड खेली. मनोज के तिहरे शतक की मदद से टीम का स्कोर 7 विकेट के नुक्सान पर 629 रन पहुंच चुका है. अब देखना दिलचस्प होगा कि हैदराबाद की टीम इतने बड़े स्कोर का पीछा करने के लिए क्या रणनीति अपनाती है.

आईपीएल ऑक्शन में नहीं मिला था खरीददार

मनोज तिवारी
मनोज तिवारी

भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज मनोज तिवारी अब तक 4 आईपीएल फ्रेंचाइजियों के साथ खेल चुके हैं. दिल्ली कैपिटल्स के साथ मनोज तिवारी ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत की. इसके बाद कोलकाता नाइट राइडर्स, राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स और किंग्स इलेवन पंजाब का हिस्सा रहे.

2018 में रिलीज होने के बाद पिछले सीजन मनोज अनसोल्ड रहे थे और आईपीएल 2020 ऑक्शन में भी खिलाड़ी को को खरीदने में किली भी फ्रेंचाइजी ने दिलचस्पी नहीं दिखाई. आंकड़ों की बात करें तो उन्होंने 98 मैचों मं 116.67 की स्ट्राइक रेट के साथ 7 अर्धशतकों की मदद से 1695 रन बनाए हैं. इसमें खिलाड़ी का सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 75 रहा.

मनोज तिवारी का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

मनोज तिवारी

मनोज तिवारी ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम में मौका मिला था. बंगाल के बल्लेबाज को 2015 तक कुल 12 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका मिला. इसमें 23.92 की औसत से 12 पारियों में एक शतक और एक अर्धशतक की मदद से 287 रन बनाए, वहीं, 3 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में मनोज तिवारी ने एक पारी में बल्लेबाजी की थी, जिसमें 15 रन उन्होंने बनाए थे. तिवारी के छोटे से अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत 2015 में जिम्बाव्बे के खिलाफ हो गया.

Related posts