गाली गलौच के आरोप में मार्लोन सैमुअल्स पर आईसीसी ने लगाया मैच का 30 फीसदी जुर्माना

ईडन गार्डन में टी ट्वेंटी विश्वकप के फाइनल के दौरान गाली गलौच करने की वजह से, वेस्टइंडीज के बल्लेबाज मार्लोन सैमुअल्स की आईसीसी ने 30 प्रतिशत मैच फिस काटी है. ये वाकया तब हुआ, जब मार्लोन सैमुअल्स ने आखिरी ओवर में बेन स्टोक्स को गाली दी. इन दोनों के बीच पहले भी ऐसा हो चुका है. वेस्टइंडीज ने फाइनल मैच 4 विकेट से जीता, और दुसरी बार टी ट्वेंटी विश्वकप जीतने वाली टीम बनी.

मार्लोन सैमुअल्स ने मैच जिताऊ 85 रनों की नाबाद पारी खेली, और वेस्टइंडीज को विश्वकप जीताया. हालाकि मार्लोन सैमुअल्स ने अपनी गलती स्वीकारी, और मैच रेफरी रंजन मदुगले से माफी मांगी. मार्लोन सैमुयल के खिलाफ ये आरोप, अंपायर कुमार धरमसेना, रॉड टकर, मरायीस एरासमस, और ब्रुस अॉक्रनफर्ड ने तय किये.

फाइनल मैच में मार्लोन सैमुयल ने दबाव में बेहतरीन पारी खेली. जब फाइनल मैच में वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर में 19 रन चाहिए थे, जब कार्लोस ब्रैथवाटे ने लगातार 4 छक्के लगाकार वेस्टइंडीज को चैम्पियन बनाया. मार्लोन सैमुअल्स पर लेवल 1 के तहत आरोप तय हुए थे.

मार्लोन सैमुअल्स ने उस मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में शेन वॉर्न के खिलाफ भला बुरा कहा, और इसको लेकर भी उनकी काफी आलोचना हुई.

मार्लोन सैमुअल्स का विश्वकप फाइनल में कमाल का रिकॉर्ड है, और उन्होंने ऐसी ही पारी 2012 के टी ट्वेंटी विश्वकप फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ खेली थी. मार्लोन सैमुअल्स पर आईसीसी 2.1.4 नियमों के तहत आरोप लगाए गये थे, और आईसीसी ने उनपर कारवाई करते हुए उनकी 30 प्रतिशत मैच फिस काटी.

Related Topics