अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी क्रिकेट से मशरफे मुर्ताज़ा ने लिया संन्यास | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी क्रिकेट से मशरफे मुर्ताज़ा ने लिया संन्यास 

अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी क्रिकेट से मशरफे मुर्ताज़ा ने लिया संन्यास

बांग्लादेश टीम के सिमित ओवरों के कप्तान मशरफे मुर्ताज़ा ने मंगलवार(4 अप्रैल) को अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी क्रिकेट से संन्यास की घोषणा किया. गुरूवार (6 अप्रैल) को आर. प्रेमदासा में श्रीलंका के विरुद्ध खेले जाने वाला टी-ट्वेंटी मैच मुर्ताज़ा का आख़िरी टी-ट्वेंटी मैच होगा.

अन्तराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी क्रिकेट से मशरफे मुर्ताज़ा ने लिया संन्यास 1

श्रीलंका के विरुद्ध खेले जा रहे पहले ट्वेंटी मैच में टॉस के दौरान बांग्लादेशी कप्तान ने कहा, “यह टी-ट्वेंटी सीरीज में मेरे करियर की आख़िरी टी-ट्वेंटी सीरीज होगी.”    टेस्ट मैच में मिली जीत के बाद भी आखिर क्यों घबरा रहे हैं, बांग्लादेश के कप्तान मुर्तजा

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी), मेरे परिवार, दोस्तों,टीम साथियों, कोचिंग स्टाफ और सभी प्रशंसकों जिन्होंने 15-16 वर्षों तक मेरा समर्थन और मेरे लिए प्रार्थना किया है, मैं उनका शुक्रिया अदा करना चाहता हूँ.”

मुर्ताज़ा ने अब तक अपने करियर में 52 टी-ट्वेंटी मैचो में 36.56 की औसत से 39 विकेट हासिल किये हैं, जिस दौरान उनका इकॉनोमिक दर 8.05 प्रति ओवर रहा हैं. मुर्ताज़ा टी-ट्वेंटी क्रिकेट में एक उपयोगी निचलेक्रम के बल्लेबाज़ भी रहे हैं, मुर्ताज़ा ने टी-ट्वेंटी करियर में 23 छक्के भी लगायें हैं.

मुर्ताज़ा वर्ष 2006 में बांग्लादेश टीम द्वारा ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध खेले गए पहले टी-ट्वेंटी मैच के दौरान टीम का हिस्सा भी रहे है. इस मैच में मुर्ताज़ा 36 रनों के साथ टीम के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे थे, जिसकी मदद से बांग्लादेश ने मैच 43 रनों से जीता था.

मशरफे मुर्ताज़ा पिछले कुछ वर्षो से घुटने की चोट के कारण टीम से अंदर बाहर रहे है.    बांग्लादेश की हार पर मोहम्मद अशरफुल ने इस वजह से की कप्तान मशरफे मुर्तजा की आलोचना

मशरफे मुर्ताज़ा ने बांग्लादेश के लिए 26 टी-ट्वेंटी मैचो में कप्तानी की है, जिसमे 9 मैचो में टीम को जीत मिली हैं. वर्ष 2016 में मुर्ताज़ा की कप्तानी में बांग्लादेश ने 12 में से 7 मैच जीते हैं, जबकि केवल 4 मैचो में टीम को हार मिली थी.

Related posts