मयंक अग्रवाल ने शतक बनाने के बाद बताया, मुश्किल पिच पर क्या थी उनकी रणनीति

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

मयंक अग्रवाल ने शतक बनाने के बाद बताया, क्या थी रबाडा और फिलैंडर को खेलने में परेशानी 

मयंक अग्रवाल ने शतक बनाने के बाद बताया, क्या थी रबाडा और फिलैंडर को खेलने में परेशानी

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच खेला जा रहा है। टेस्ट के पहले दिन भारत ने तीन विकेट पर 273 रन बना लिए हैं। विराट कोहली (63) और अजिंक्य रहाणे (18) पिच पर टिके हुए हैं। मयंक अग्रवाल ने शतकीय पारी खेली और 108 रन बनाये। चेतेश्वर पुजारा ने भी अर्धशतक लगाये हुए 58 रनों की पारी खेली।

बल्लेबाजी पर बोले मयंक अग्रवाल

मयंक अग्रवाल पहले टेस्ट में 215 रनों की पारी खेली थी और इस मैच में 108 रन बनाये। शुरुआत में पिच बल्लेबाजी के लिए मुश्किल थी लेकिन मयंक ने एक छोर संभाले रखा। अपने प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा

“एक के बाद एक शतक बनाने से काफी ख़ुशी है और मुझे अच्छा लग रहा है। टीम अच्छी स्थिति में है और एक बल्लेबाज कम होने के बाद रन बनाना अच्छी चीज है। ऐसे मौके भी आये जब रन आसानी से नहीं आ रहे थे और उन्होंने अच्छे गेंदबाजी की।”

रबाडा और फिलैंडर ने पिच का फायदा उठाया

दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज ने शुरूआती ओवर में बेहतरीन गेंदबाजी की। रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल लगातार जूझते नजर आ रहे थे। रबाडा और फिलैंडर की गेंदबाजी पर मयंक अग्रवाल ने कहा

“यहां विकेट पर कुछ नमी थी, फिलेंडर और रबाडा ने कसी हुई गेंदबाजी की, हमें पता था कि हम बीट होंगे टिक कार खेलने की जरूरत थी। हमने फैसला किया कि स्ट्रेट लाइन खेलेंगे और खराब गेंदों का इंतजार करेंगे। 450-500 दक्षिण अफ्रीका पर दबाव बनाने के लिए एक अच्छा स्कोर होना चाहिए, अगर हमें दूसरी बार बल्लेबाजी करने की जरूरत नहीं है।”

टेस्ट करियर की शानदार शुरुआत

मयंक अग्रवाल ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट में डेब्यू किया था। पहली ही पारी में उन्होंने 76 रन बनाकर अपनी काबिलियत दिखा दी थी। इसी सीरीज के अगले मैच में उन्होंने 77 रन बनाये।

वेस्टइंडीज दौरे पर उनके बल्ला कुछ खास नहीं चला और एक ही अर्धशतक निकला। अभी तक उन्होंने 6 टेस्ट की 10 पारियों में करीब 60 की औसत से 604 रन बनाये हैं। इसमें 3 अर्धशतक के साथ एक शतक और एक दोहरा शतक भी शामिल है।

Related posts