श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से बोला झूठ, MCA ने किया दंड देना का फैसला 1

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज विनोद काम्बली ने रेलवे के हाथों रणजी ट्रॉफी के तीसरे राउंड के मुकाबले में मिली 10 विकेट की हार के बाद मुम्बई क्रिकेट टीम की आलोचना की है. उन्होंने शिवम दुबे तथा श्रेयस अय्यर के न खेलने पर भी अपनी नाराजगी जाहिर की है.

मुंबई की टीम की रेलवे के खिलाफ हुई है ऐतिहासिक हार

 

श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से बोला झूठ, MCA ने किया दंड देना का फैसला 2

आपको बता दें कि मुम्बई को रेलवे के खिलाफ रणजी मैच में पृथ्वी शॉ, अजिंक्य रहाणे, शार्दुल ठाकुर जैसे खिलाड़ियों के एकादश में रहते हुए भी करारी हार मिली है. मुम्बई की टीम को रणजी ट्रॉफी के इतिहास में पहली बार 10 विकेट करारी हार का सामना करना पड़ा है.

विनोद काम्बली ने मुंबई टीम मैनेजमेंट पर उठाये सवाल

श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से बोला झूठ, MCA ने किया दंड देना का फैसला 3

काम्बली ने इस बात पर निराशा जाहिर की कि ऐसे में जबकि इंटरनेशनल मैच पांच दिन दूर है, श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे जैसे खिलाड़ियों को रणजी नहीं खेलने देना उचित नहीं है. विनोद काम्बली ने मुंबई की शर्मनाक हार को लेकर अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने श्रीलंका तथा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए चुने गए श्रेयस अय्यर तथा शिवम दुबे को मुंबई तथा रेलवे के मैच में प्लेयिंग इलेवन में ना शामिल करने के लिए टीम मैनेजमेंट को जिम्मेदार बताया है.

विनोद काम्बली ने ट्वीट कर उठाया सवाल

श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से बोला झूठ, MCA ने किया दंड देना का फैसला 4

श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से बोला झूठ, MCA ने किया दंड देना का फैसला 5

“मुम्बई की टीम काफी खराब खेली. श्रेयस अय्यर और शिवम दुबे जैसे खिलाड़ियों का मुम्बई टीम में न होना दुखद है. खासतौर पर ऐसे में जब भारत का इंटरनेशनल मैच 5 दिन बाद है. जब आपकी टीम में ऐसे खिलाड़ी उपलब्ध हैं तो आपको अपनी सर्वश्रेठ टीम के साथ मैदान पर उतरना चाहिए ”

यह है विनोद काम्बली का वह ट्वीट

एमसीए ने किया दंडित करने का फैसला

“यह मुंबई क्रिकेट के लिए एक दुर्भाग्यपूर्ण क्षण है. उन्होंने( शिवम दुबे तथा श्रेयस अय्यर ) हमें बताया कि उन्हें BCCI द्वारा ‘आराम की सलाह’ दी गई थी. हालाँकि, जब हमने चयनकर्ताओं के साथ बातचीत की, तो हमें पता चला कि चयनकर्ताओं की ओर से ऐसा कोई निर्देश नहीं भेजा गया है, इसके बाद यह उठता है कि उन्हें आराम करने के लिए किसने कहा?

भारतीय टीम के फिजियो ने या ट्रेनर ने? या फिर यह फैसला उनका खुदका था और उन्होंने बोर्ड पर इस फैसले को डाल दिया? यह ऐसा विवाद है जिसकी चयनकर्ताओं सहित एमसीए में किसी ने भी इसकी सराहना नहीं की है. इस मुद्दे पर एसोसिएशन की अगली शीर्ष परिषद की बैठक में निश्चित रूप से चर्चा की जाएगी. हम जल्द ही किसी तरह की कार्रवाई कर सकते हैं.”

ऐसा रहा मैच का हाल

मुम्बई ने पहली पारी में 114 रन बनाए। प्रदीप पुजार ने 37 रन देकर छह विकेट लिए. इसके बाद रेलवे ने अरिंदम घोष (72) और कर्ण शर्मा (112 नाबाद) की मदद से पहली पारी में 266 रन बनाए और 152 रनों की लीड ले ली. दूसरी पारी में मुम्बई की टीम 198 रनों पर आउट हो गई. हिमांशू सांगवान ने 60 रन देकर पांच विकेट लिए. रेलवे ने 47 रनों के लक्ष्य को बिना कोई विकेट गंवाए हासिल कर लिया.