मैकुलम ने 21 चौके और 6 छक्के की मदद से मात्र 79 गेंदों में खेली 145 रनों की तुफानी पारी

Krishna / 20 February 2016

अपने क्रिकेट करियर का आखिरी टेस्ट खेल रहे मैक्कुलम ने विदाई टेस्ट की अपनी पारी में ऐसी तूफान मचा दिया है कि अब क्रिकेट जगत उन्हें इतिहास के पन्नों में हमेशा याद रखेगा. क्रिकेट जगत के अच्छे-अच्छे दिग्गज क्रिकेट को इस शानदार तरीके से अलविदा कहने को तरसे हैं. लेकिन मैक्कुलम के लिए कुछ और ही लिखा था.

टेस्ट इतिहास में सबसे तेज शतक लगाने का रिकार्ड न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्लम के नाम दर्ज हो गया है. मैक्लम ने 54 गेंदों पर शतक लगाकर सर विवियन रिचर्ड्स के 56 गेंदों पर शतक के 30 साल पुराने रिकार्ड को ध्वस्त किया. अपने करियर का आखिरी टेस्ट मैच खेल रहे मैक्लम ने शनिवार को आस्ट्रेलिया के साथ जारी दूसरे टेस्ट मैच के दौरान यह कीर्तिमान स्थापित किया.

मैक्लम ने अपनी 145 रनों की पारी में 79 गेंदों का सामना किया और 21 चौके और छह छक्के लगाए.

मैक्लम ने अपना अर्धशतक 34 गेंदों पर पूरा किया और फिर अगले 50 रन मात्र 20 गेंदों पर बना डाले. उनका शतक 54 गेंदों पर पूरा हुआ, जिसमें 16 चौके और चार छक्के शामिल हैं.

मैक्लम ने 78 मिनट विकेट पर बिताते हुए शतक पूरा किया. समय के लिहाज से यह टेस्ट इतिहास का चौथा सबसे तेज शतक है. सबसे तेज शतक (समय के लिहाज से) का रिकार्ड आस्ट्रेलिया के जीएम ग्रेगरी के नाम है. ग्रेगरी ने 1921 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मात्र 70 मिनट में सैकड़ा लगाया था.

गेंदों की बात की जाए तो मैक्लम ने रिचर्ड्स का रिकार्ड ध्वस्त किया है. रिचर्ड्स ने 1985-86 में सेंट जोंस में इंग्लैंड के खिलाफ 56 गेंदों पर शतक लगाया था. पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक ने भी 56 गेंदों पर शतक लगाया है.

टेस्ट मैचों में भारत की ओर से सबसे तेज शतक का रिकार्ड कपिल देव के नाम दर्ज है. कपिल ने 1986-87 में कानपुर में श्रीलंका के खिलाफ 74 गेंदों पर शतक लगाया था.

Related Topics