बुकनान को लेकर दिए गये विवादित बयान के बाद आलोचनाओ से घिरे पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क

vinay mani tripathi / 25 November 2015

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान माइकल क्लार्क की अभी कुछ दिन पहले साथी खिलाड़ी सायमंड्स और हेडेन के साथ पूर्व कोच जॉन बुकनान पर अपनी डायरी एशेज 2015 में कुछ विवादित बयान देने से चारो तरफ आलोचना हो रही है.  

क्लार्क ने कुछ समय पहले साथी खिलाड़ी सायमंड्स को कहा था, कि वो कभी किसी के बारे में कुछ बोलने के लायक नहीं है, वो क्या किसी की आलोचना करेंगे वो तो शराब पीकर मैदान पर खेलने उतरते थे.

साथ ही साथी खिलाड़ी हेडेन को भी नहीं बख्शा और कहा, कि हेडेन को मेरे बारे में बोलने के कोई अधिकार नहीं है, मैंने हमेशा अपने देश ऑस्ट्रेलिया के लिए खेला है, सबको ये बात पता है, मै अपने देश के प्रति मैच को लेकर कितना प्रतिबद्ध था, कि अगर मेरे से उस समय के मौजूदा कप्तान रिकी पोंटिंग जो करते करने को तैयार था.

 

बुकनान के बारे में क्लार्क ने कहा, कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए कुछ भी नहीं किया, क्यूंकि उस समय उनके पास जो टीम थी, वो दिग्गज खिलाड़ियों से सजी हुयी टीम थी, और उस टीम का कोच अगर मेरा कुत्ता जेरी होता, तो वो भी विश्वकप जीता सकता था.

हालाँकि अब तक क्लार्क ने अपने इस बयान के बाद से कोई माफ़ी नहीं मांगी है, जिसके बाद से क्लार्क की चारो तरफ आलोचना हो रही है, अब उनके आलोचना में उतरे है, क्लार्क के साथ खिलाड़ी शेन वाटसन, जिन्होंने अभी कुछ दिन पहले ही क्रिकेट से सन्यास की घोषणा की थी.

वाटसन ने कहा, बुकनान ने अपना पूरा जीवन ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट को समर्पित किया है, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट को एक नई मुकाम दिया है, उनके जैसे कोच को क्लार्क को ऐसी बाते बोलना शोभा नहीं देता, उन्हें जल्द से जल्द अपने इस व्यवहार के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए.

क्लार्क ऑस्ट्रेलिया के लिए 115 टेस्ट मैचो में 8643 रन बना चुके है, क्लार्क ने एशेज में इंग्लैंड के हाथो मिली हार का जिम्मा लेते हुए क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दिया था, जिसके बाद बुकनान सहित साथी खिलाड़ी सायमंड्स और मैथ्यू हेडेन ने क्लार्क की काफी आलोचना की थी.

Related Topics