मिक्की आर्थर चाहते है की आईसीसी रन रेट की बजाय हेड टू हेड मैच को प्राथमिकता दे

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

मिकी ऑर्थर ने कहा रन रेट छोड़ अगर ऐसा समीकरण बनाये आईसीसी तो सेमीफाइनल में होगा पाकिस्तान 

मिकी ऑर्थर ने कहा रन रेट छोड़ अगर ऐसा समीकरण बनाये आईसीसी तो सेमीफाइनल में होगा पाकिस्तान

पाकिस्तान क्रिकेट टीम का विश्व कप 2019 का सफर अपना आखिरी मैच जीतने के बाद भी टूर्नामेंट से बाहर जाना पड़ा. जिसके बाद से उनमे ख़ुशी से ज्यादा मायूसी झलक रही है. पाकिस्तान को सेमीफाइनल मे जाने की राह सिर्फ कठिन ही नहीं बहुत उलझी रही है. इस हार से नाखुश पाकिस्तान के कोच मिक्की आर्थर ने आईसीसी से एक नियम मे सुधार लाने की राय दी है.

मिक्की आर्थर की टीम के लिए इस कारण मुशकिल थी सेमीफाइनल की राह

मिक्की आर्थर

पाकिस्तान की टीम टूर्नामेंट के शुरुआत मे काफी निचले क्रम का प्रदर्शन दिखा रही थी, इसी का खामियाजा है कि उसको सेमीफाइनल से हाथ धोना पड़ा.

मैन इन ग्रीन ने वेस्टइंडीज के खिलाफ जो बुरी हार झेली उसका खामियाजा उसको बाद तक झेलना पड़ा. पाकिस्तान ने टूर्नामेंट मे 9  मैच खेले और उन मैचों मे सिर्फ 5 मे जीत दर्ज की और 3 मैच वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया और भारत के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा.

पाकिस्तान की टीम की अगर इस टूर्नामेंट मे किसी ने दिक्कतें बढाई है, तो वो है भारत से हार, उसके बाद से उनको  सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया. सरफराज अहमद की फिटनेस को लेकर सवाल उठने लगे, और भारत से हार ही थी, जिसके कारण शोएब मलिक को अपना विदाई मैच खेलने का मौका भी नहीं मिला.

मिक्की आर्थर ने आईसीसी को दिया यह सुझाव

पाकिस्तान टीम के कोच मिक्की आर्थर ने अपनी टीम के हार के बाद आईसीसी को एक राय दी है और उसमे कहा है कि आईसीसी को ऐसे मौकों पर रन रेट की जगह हेड टू हेड मुकाबले देखने चाहिए.

 ” अगर आईसीसी ने हेड टू हेड पर विचार करना पसंद किया होता तो आज रात हम सेमीफाइनल में होते. यह निराशाजनक है, और यह सिर्फ वेस्ट इंडीज के खिलाफ हमारे पहले खेल (एक भारी हार) का असर है.

ऐसा आर्थर ने इसलिए कहा क्योंकि अगर आईसीसी हेड टू हेड मुकाबला देखती तो पाकिस्तान सेमीफाइनल मे होती क्योंकि इस टूर्नामेंट मे पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड को हरा दिया था.

पाकिस्तानी फैन्स पहले ही आईसीसी ओर लगा चुके हैं आरोप

पाकिस्तानी टीम से ज्यादा पाकिस्तानी प्रशंसक मायूस है. उन्होंने आईसीसी तक पर आरोप लगा दिया और कहा कि आईसीसी इंग्लैंड और भारत नहीं चाहते थे, कि पाकिस्तान सेमीफाइनल मे जाए और खेले. यह तो कुछ भी नहीं उन्होंने तो यहाँ तक बोला की आईसीसी का अकाउंट भारत चलता है, और आईसीसी को अपना नाम बदलकर इंडिया प्रो क्रिकेट काउंसिल रख लेना चाहिए.

Related posts