मिगुएल कमिंस ने 3 साल के लिए मिडिलसेक्स के साथ साइन की कोलपैक डील

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

वेस्टइंडीज के इस तेज गेंदबाज़ ने 3 साल के लिए साइन कर ली कोलपैक डील, आखिरी बार भारत के खिलाफ खेला था मैच 

वेस्टइंडीज के इस तेज गेंदबाज़ ने 3 साल के लिए साइन कर ली कोलपैक डील, आखिरी बार भारत के खिलाफ खेला था मैच

वेस्टइंडीज के मिगुएल कमिंस ने अगले 3 सालों के लिए मिडलसेक्स के साथ कोलपैक डील साइन कर ली है। अब वह अपने देश की राष्ट्रीय टीम का हिस्सा  जिससे वह अपने देश के लिए विवाद से बाहर हो गए हैं। कमिंस ने वेस्टइंडीज के लिए 14 टेस्ट और 11 वनडे मैच खेले है। वह आखिरी बार अगस्त में भारत के खिलाफ एंटीगा टेस्ट में वेस्टइंडीज के तरफ से पहले टेस्ट मैच में खेले थे।

3 साल के लिए मिगुएल कमिंस के लिए कोलपैक किया साइन

मिगुएल कमिंस

मिगुअल कमिंस पहले मिडिलसेक्स के कोच स्टुअर्ट लॉ के तहत खेलते थे। जब वह 2017 और 2018 के बीच वेस्ट इंडीज के प्रभारी थे। 2016 में चैंपियन रहे मिडलसेक्स में वह सीज़न में डिवीजन टू के आठवें स्थान पर रहे। मिडलसेक्स क्रिकेट के निदेशक एंगस फ्रेजर ने कहा,

“स्टुअर्ट लॉ ने सिफारिश की ,कि हम मिगुएल को अपने साथ साइन करना चाहते हैं। उन्होंने वेस्ट इंडीज की कोचिंग करते हुए मिगुएल के साथ वक्त बिताया था।

मैंने मिगुएल को वीडियो पर देखा था, लेकिन आपको किसी का खेल तभी समझ में आता है जब आप किसी को लाइव खेलते हुए देखते हैं तभी आपको उनकी क्षमताओं का पता चलता है। मैंने जब मिगुएल का खेल सामने से देखा तो मैं तुरंत इम्प्रेस हो गया।

“उनके पास नियंत्रण है, गेंद को दाएं हाथ के बल्लेबाज से दूर ले जाने में सक्षम है और, मेरा मानना ​​है कि परिस्थितियों को तेज करने के लिए तेज, आक्रामक गेंदबाजी करने की क्षमता है।

हाल ही में उन्होंने अपने एक स्पेल के दौरान मिडिलसेक्स के साथ खेलते हुए वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया और फिट नज़र आए। हमारी टीम के एक पसंदीदा सदस्य हैं। ”

इससे पहले 2 खिलाड़ियों ने साइन किया है कोलपैक

वेस्टइंडीज के इस तेज गेंदबाज़ ने 3 साल के लिए साइन कर ली कोलपैक डील, आखिरी बार भारत के खिलाफ खेला था मैच 1

कोलपैक का नाम सुनते ही आपके दिमाग में साउथ अफ्रीकी खिलाड़ियों का ख्याल आता है क्योंकि पिछले कुछ दिनों से अफ्रीकी खिलाड़ी कोलपैक साइन कर इंग्लैंड के घरेलू टूर्नामेंट्स खेलते नजर आते हैं। लेकिन वेस्टइंडीज के मिगुएल कमिंस के पहले 2 खिलाड़ी भी कोलपैक साइन कर चुके हैं। जी हां, फिलेर एडवर्ड हैम्पशायर और रवि रामपॉल डर्बीशायर के लिए कोलपैक साइन किया था।

क्या है कोलपैक डील ?

कोलपैक डील साल 2003 में प्रभाव में आई। स्लोवाकिया के हैंडबॉल के खिलाड़ी मारो कोलपाक को जर्मन के क्‍लब से रिलीज कर दिया गया था। कारण बताया गया कि नॉन यूरोपीयन खिलाड़ी के कोटे की सीमा के कारण ये निर्णय लिया गया है। उन्‍हें लगा कि ये उनके साथ अन्‍याय है।

लिहाजा उन्‍होंने अदालत का दरवाजा खटखटाया। यूरोप की अदालत ने उनके पक्ष में फैसला दिया। अदालत ने कहा अगर खिलाड़ी अपने देश के लिए खेलने के अधिकार को छोड़ दे तो वो कोलपैक डील के अंतर्गत यूरोप में खेलने के योग्‍य है। इस डील के तहत खिलाड़ी को खेलने के लिए केवल वर्किंग वीजा चाहिए।

Related posts