//

रवि शास्त्री नहीं बल्कि ये बनने वाले थे भारत के मुख्य कोच, सिर्फ इस वजह से कोच बने शास्त्री

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री को फिर से टीम का कोच बना दिया गया है। वह 2017 में अनिल कुंबले के हटने के बाद भारतीय टीम के मुख्य कोच बनाये गये थे। विश्व कप में भारतीय टीम को हार मिली थी लेकिन इसके बावजूद उन्हें फिर से कोच बनाया गया है। टीम गलत फैसलों की वजह से विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हारी थी।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

आसान नहीं था दोबारा कोच बनना

रवि शास्त्री नहीं बल्कि ये बनने वाले थे भारत के मुख्य कोच, सिर्फ इस वजह से कोच बने शास्त्री 1

रवि शास्त्री के लिए दोबारा भारतीय टीम का मुख्य कोच बनने की राह आसान नहीं थी। न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन से उन्हें कड़ी टक्कर मिली थी। इस बारे में बीसीसीआई अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा

“यह रवि शास्त्री के लिए उतना आसान नहीं था, जितना देखने में लग रहा है। हेसन में कोच बनाये जाने के काफी करीब थे। सभी ने देखा है कि न्यूजीलैंड ने उनके कोच रहते कैसा प्रदर्शन किया था। विश्व कप में भी न्यूजीलैंड में बेहतरीन खेल दिखया था। न्यूजीलैंड उनकी कोचिंग में पहली बार किसी विश्व कप के फाइनल में भी पहुंची थी। उनके कोच रहते न्यूजीलैंड ने तीनों फॉर्मेट में अच्छा खेल दिखाया था।”

इस वजह से शास्त्री का पलड़ा भारी

रवि शास्त्री नहीं बल्कि ये बनने वाले थे भारत के मुख्य कोच, सिर्फ इस वजह से कोच बने शास्त्री 2

माइक हेसन के पास इंटरनेशनल क्रिकेट में खेलने का अनुभव नहीं है वहीं रवि शास्त्री ने भारत के लिए 200 से ज्यादा मैच खेले हैं। इसी वजह से माइक हेसन के ऊपर उन्हें तबज्जों दी गयी। अधिकारी ने आगे कहा

“सीएसी ने महसूस किया कि एक खिलाड़ी के रूप में शास्त्री का रिकॉर्ड अच्छा है और यह एक ऐसा क्षेत्र था जिसे एक मान्यता देने की आवश्यकता थी। टीम के बड़े नामों को संभालने के दौरान एक व्यक्ति का अपना कद चिंता का क्षेत्र बन सकता है। हेसन ने खुद पर्याप्त क्रिकेट नहीं खेला है और जैसा कि हम जानते हैं कि उन्होंने अपने काफी कम उम्र में कोचिंग शुरू की थी। दूसरी ओर शास्त्री ने 80 टेस्ट मैच और 150 वनडे मैच खेले। यह कुछ ऐसा है जो कीवी के खिलाफ गया।”